पंजाब

बादल को सजा दिलाने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जायेगी – कैप्टन अमरिन्दर सिंह

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने प्रकाश सिंह बादल को कोटकपूरा और बहबल कलां की गोलीबारी घटना के लिए पूरी तरह जि़म्मेदार ठहराते और अकाली नेता द्वारा पंजाब को बुरी तरह बर्बाद करने की बात कहते हुए कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री को सजा दिलाने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जायेगी और उनको हर हाल में कानून के कटघरे में खड़ा किया जायेगा । पूर्व मुख्यमंत्री के साथ रत्ती भर भी नरमी न बरतने की अपनी बात दोहराते हुए कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज यहाँ चुनिंदा पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कहा कि यह बिल्कुल ही संभव नहीं है कि बादल को पुलिस गोलीबारी के बारे में जानकार ही न हो । मुख्यमंत्री ने कहा कि विशेष जांच टीम (एस.आई.टी) की रिपोर्ट अदालत में जायेगी और सारी सच्चाई सामने आ जायेगी । उन्होंने कहा कि सी.बी.आई से जांच वापिस लेने और यह पंजाब पुलिस की एस.आई.टी के हवाले करने का फ़ैसला राज्य विधानसभा ने लिया है जिसने महसूस किया है कि केंद्र में भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाली सरकार है और इसके द्वारा केंद्रीय एजेंसी को प्रभावित किया जा सकता है क्योंकि भाजपा शिरोमणी अकाली दल की सहयोगी है। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि बहबल कलाँ और कोटकपूरा की गोलीबारी की घटनाएँ और बेअदबी के मामलों की जांच के लिए रणजीत सिंह कमिशन स्थापित किया गया था जिसने आगे और जांच का सुझाव दिया है जिसके लिए एस.आई.टी स्थापित की जा रही है । उन्होंने कहा कि रणजीत सिंह कमिशन तथ्यों की जांच करने वाला पैनल था और इसने बे-गुनाह लोगों पर जान-बूझकर और मूर्खतापूर्ण ढंग से गोलीबारी को अंजाम देने वाली घटनाओं की तह तक जाकर जांच करने का अपना कार्य किया।
बादल की तरफ से गोलीबारी बारे कुछ भी पता न होने और उसकी तरफ से इस सम्बन्ध में कसम खाने को तैयार होने की बात कहे जाने को कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने पूरी तरह रद्द कर दिया और उन्होंने कहा कि यह उसकी घटनाओं में भूमिका से लोगों का ध्यान एक तरफ़ करने का ढकोसला है । कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि उसने अकाल तख्त पर अनेकों बार झूठी कसम खाई है ।
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह किस तरह संभव हो सकता है कि एक मुख्यमंत्री को गोलीबारी बारे कुछ पता भी न हो । उन्होंने कहा कि पूर्व डी.जी.पी सुमेध सैनी ने रणजीत सिंह कमिशन के आगे स्पष्ट रूप में कहा है कि बादल ने उसे सख्ती के साथ भीड़ को खदेडऩे के लिए कहा था । उन्होंने कहा कि एक मुख्यमंत्री के होते हुए अगर मेरे राज्य में कुछ घटता है तो मैं इस तरह का झूठ बोल कर उससे मुंह नहीं फेर सकता । उन्होंने कहा कि अगर मेरे नाक के नीचे कुछ घटता है और मैं उस बारे जानकारी ही नहीं हैं तो मुझे ओहदे से एक तरफ़ कर देना चाहिए । उन्होंने कहा कि कमिशन की जांच के दौरान यह बात सामने आई है कि गोलीबारी से पहले बादल को 22 कॉल की गई थीं।
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि बादल झूठ बोलने का माहिर है । उसने मुख्यमंत्री बनने के लिए हर बार झूठ का सहारा लिया है । उन्होंने कहा कि वह उस अकाली नेता को निजी तौर पर बहुत नज़दीक से जानते हैं । मुख्यमंत्री ने कहा कि बादल ने ज़ोरा सिंह कमिशन की जांच पर भी कोई कार्यवाही नहीं की जो उसकी अपनी सरकार की तरफ से बरगाड़ी की बेअदबी की घटनाओं और उसके बाद हुई गोलीबारी की जांच के लिए स्थापित किया गया था। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस को गोली चलाने के लिए कानूनी प्रक्रियाओं का अनुसरण करना ज़रूरी है और ऐसा बहबल कलाँ और कोटकपूरा की गोलीबारी के दौरान नहीं किया गया । उन्होंने कहा कि इस दौरान हुई गोलीबारी का स्पष्ट उद्देश्य शांतिपूर्ण विरोध कर रहे लोगों की हत्या करना था जिससे राज्य में तनाव पैदा किया जा सके । उन्होंने कहा कि जिस ढंग के साथ पुलिस ने गोलीबारी की है वह बहुत दिल दहला देने वाली है। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि प्रकाश सिंह बादल बहुत ज़्यादा बुज़दिल है । जब उसे लोगों का सामना करना पड़ता है तो वह खिसक जाता है । उन्होंने ब्लू स्टार के समय को भी याद किया जब सिखों पर हमले हो रहे थे और शिरोमणी अकाली दल का पूर्व प्रधान यू.पी खिसक गया था । कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि वह ब्लू स्टार के समय ख़ुद पंजाब में थे और उन्होंने इसके विरोध में कांग्रेस छोड़ दी थी।
पंजाब विधानसभा में रणजीत सिंह कमिशन की रिपोर्ट पर बहस वाले दिन अकालियों की तरफ से इस बहस में हिस्सा न लेने के सम्बन्ध में मुख्यमंत्री ने बादल को बरगाड़ी और बहबल कलां के मुद्दों पर बहस की चुनौती दी।
राज्य में सांप्रदायिक तनाव पैदा करने वाले किसी भी व्यक्ति के विरुद्ध सख़्त कार्यवाही करने की बात कहते हुए कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि उनकी सरकार हर हाल में राज्य में शांति बनाए रखने के उद्देय से बेअदबी विरोधी कानून को सख़्त बना रही है । मुख्यमंत्री ने बठिंडा में एम्ज़ के प्रोजैक्ट संबंधी लोगों को सफ़ेद झूठ से गुमराह करने के लिए हरसिमरत बादल की आलोचना की । कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने उन पर और वित्त मंत्री पर हरसिमरत की तरफ से प्रोजैक्ट को रोकने के लिए लगाए गए दोषों को रद्द किया और कहा कि कुछ तकनीकी कारणों से इसमें देरी हो रही है।
आम आदमी पार्टी के नेता एच एस फुलका की तरफ से इस्तीफ़ा देने की दी गई धमकी के सम्बन्ध में मुख्यमंत्री ने कहा कि वह लोगों में चर्चित रहने के लिए इस घटिया चालबाज़ी में लगा हुआ है । उन्होंने कहा कि एक वकील के तौर पर फुलका को पता होना चाहिए कि किसी को कानून के कटघरे में खड़ा करने के लिए कोई प्रणाली है जिसका अनुसरण करने की ज़रूरत है । एस.आई.टी को घटनाओं की तह तक जाने के लिए समय दिए जाने की ज़रूरत है। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि सरकार इस मामले को पूरी कोशिश के साथ आगे ले जा रही है परन्तु एकदम सब कुछ किये जाने के लिए कोई जादू की छड़ी नहीं है । उन्होंने बअदबी के इन नाजुक मुद्दों का सियासीकरन करने के विरुद्ध आम आदमी पार्टी और शिरोमणी अकाली दल को चेतावनी दी ।
चुनावों से पहले सांप्रदायिक झगड़े करवाने के लिए बादलों की रणनीति बारे पंजाब के लोग पूरी तरह जागरूक होने के सम्बन्ध में मुख्यमंत्री ने कहा कि अकाली पाकिस्तान की आई.एस.आई के हाथों में खेल रहे हैं जो राज्य की शंाति को भंग करना चाहती है । उन्होंने कहा कि कैनेडा, इटली, जर्मनी और अन्य देशों से कार्य कर रहे एस.एफ.ज और अन्य गरमख्याली संगठन को आई.एस.आई के एक अधिकारी द्वारा चलाया जा रहा है । उन्होंने कहा कि पंजाब में कोई भी गरमख्याली नहीं है और पंजाब के लोग शांति और विकास चाहते हैं।
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि राज्य में गड़बड़ी पैदा करने कि की जा रही कोशिशों से उनकी सरकार पूरी तरह चौकस है और ऐसे घृणित इरादों को किसी भी सूरत में पनपने नहीं दिया जायेगा।
श्री गुरू नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के दौरान सिख श्रद्धालुओं को करतारपुर के लिए रास्ता मुहैया करवाने के मुद्दे पर कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि उन्होंने इस सम्बन्ध में निजी दख़ल देने के लिए केंद्रीय विदेश मंत्री को पत्र लिखा है और उनको उम्मीद है कि यह मामला जल्द ही हल हो जायेगा । मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मुद्दे पर सिद्धू ने पाकिस्तान सेना के प्रमुख बाजवा के साथ बातचीत करके अच्छा किया परन्तु यह दुर्भाग्य की बात है कि करतारपुर रास्ता खोलने बारे प्रगति संबंधी इस्लामाबाद ने रिपोर्टों को रद्द कर दिया।
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि भारत पाकिस्तान के साथ शांति चाहता है परन्तु यह तब तक नहीं हो सकता जब तक भारतीय सैनिकों को कश्मीर में निशाना बनाया जाता है । एक पूर्व सैनिक होने के नाते उन्होंने शंका प्रकट की कि पाकिस्तान का नया प्रधानमंत्री इमरान ख़ान सेना के साए से बाहर आ सकेगा । एस.वाई.एल संबंधी एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब के किसानों को पानी की बहुत ज़्यादा ज़रूरत है क्योंकि ट्यूबवैल इस समय वाजिब नहीं हैं । उन्होंने कहा कि पंजाब के किसानों को पानी से वंचित करने से अफरा-तफरी मच जायेगी जिससे पाकिस्तान कोपंजाब में अस्थिरता पैदा करने के घृणित इरादों में मदद मिलेगी । मुख्यमंत्री ने खिलाडिय़ों की और ज़ोर-शौर से मदद किये जाने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया । उन्होंने कहा कि उनकी सरकार वित्तीय मुश्किलों से निपटने में लगी हुई है । पंजाब के खिलाडिय़ों द्वारा राज्य में सुविधाओं की कमी के कारण दूसरे राज्यों की ओर जाने के सम्बन्ध में कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि उनको वापिस लाने के लिए हर संभव कदम उठाया जायेगा । मुख्यमंत्री ने भरोसा प्रकट किया कि अगले साल के लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस पंजाब की सभी की सभी 13 सीटों पर ज़बरदस्त जीत हासिल करेगी और राहुल गांधी देश के अगले प्रधानमंत्री के तौर पर उभरेंगे ।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

four × 4 =

Most Popular

To Top