पंजाब

इंग्लैड से आए नौजवानों ने पटियाला के ऐतिहासिक स्थानों का दौरा किया

-पंजाब सरकार के युवा अप्रवासियों को पंजाबी संस्कृति से अवगत करवाने के लिए सी.वाई.आर. प्रोगराम के अंतर्गत पहला ग्रुप पंजाब पहुंचा

पटियाला/चंडीगढ़

अपनी, जड़ों के साथ जुड़ो प्रोगराम के अंतर्गत इंग्लैड से आए 14 अप्रवासी पंजाबी नौजवानों का पहला ग्रुप आज पटियाला में पहुँचा। इस मौके उन्होंने गुरुद्वारा श्री दुख: निवारण साहिब में मात्था टेका तद्उपरांत वे एन.आई.एस. पटियाला में स्पोर्टस म्युजियम में भारतीय खिलाडिय़ों की उपलब्धियों को बहुत ध्यान से देखा और दोपहर बाद पंजाबी यूनिवर्सिटी पटियाला में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आनंद लिया। इसके साथ ही इस समुह ने राजीव गांधी नैषनल लॉ युनिवर्सिटी का भी दौरा किया।  इस कार्यक्रम संबंधी चर्चा करते हुए 14 नौजवानों के साथ इंग्लैड से आए प्रोगराम के कोर्डीनेटर स. वरिन्दर सिंह खैहरा ने बताया कि पंजाब सरकार की तरफ से पंजाब के नौजवान लडक़े और लड़कियाँ जिनके माता -पिता, दादा -दादी या बड़े -बुजुर्ग विदेश में रहते हैं या बस गए हैं के लिए अपनी, जड़ों से जुड़ो कार्यक्रम आरंभ किया गया है। इस प्रोगराम के अंतर्गत पंजाबी मूल के नौजवान लडक़े और लड़कियों का पहले ग्रुप 10 दिनों के पंजाब दौरे पर आया है। इस प्रोगराम का मुख्य उदे्ष्य पंजाबी मूल के नौजवान लडक़े और लड़कियाँ को अपनी विरासत को जानने के लिए अपने गाँवों और शहरों में आने का मौका देना है।इस मौके एन.आर.आई. नौजवानों ने बहुत श्रद्धा भावना के साथ गुरुद्वारा श्री दुख: निवारण साहिब में माथा टेका और गुरुद्वारा साहिब के हैड ग्रंथी ज्ञानी प्रनाम सिंह ने सिरोपा पहना कर नौजवानों को गुरुद्वारा साहब के इतिहास से अवगत करवाया। इस मौके टूरिस्ट गाईड पटियाला श्री सरबजीत सिंह ने पटियाला के इतिहास से इन युवाओं को अवगत करवाया। तद्उपरांत नौजवानों की तरफ से एन.आई.एस. पटियाला का दौरा किया गया और उन्होंने खिलाडिय़ों के बने संग्राहालय को बहुत ध्यान के साथ देखा इस मौके एन.आई.एस. के प्रशिक्षक वी.के. वर्मा ने नौजवानों को एन.आई.एस. के इतिहास की जानकारी दी। इसी दौरान पटियाला दौरे पर बारे बात करते हुए नौजवानों ने कहा कि गुरुद्वारा श्री दुख: निवारण साहब में नतमस्तक होकर उन्हें बड़े सकून का अनुभव किया है। एन.आई.एस. में म्युजियम में भारतीय खिलाडिय़ों की उपलब्धियों को देखकर उन्हें भारतीय मूल के होने पर गर्व महसूस हुआ है। पंजाबी यूनिवर्सिटी में करवाए गए सांस्कृतिक कार्याक्रम बारे उन्होंने  कहा कि इस प्रोगराम से हमें हमारी अमीर संस्कृति की महक महसूस हुई है। नौजवानों ने कहा कि पंजाब सरकार की तरफ से किया गया यह प्रयास प्रषंसनीय है क्योंकि यदि हम अलग अलग पंजाब आएं तो हम पंजाब के सभी ऐतिहासिक स्थानों को इस तरह नहीं देख सकते थे। उन्होंने कहा कि हमें हर ऐतिहासिक स्थान के इतिहास की जानकारी दी जा रही है जो कि एक अच्छा प्रयास है। इस अवसर पर नौजवानों के साथ पर्यटन विभाग के जिला टूरिस्ट अफसर अमृतसर श्री गुरशरन सिंह, पर्यटन अधिकारी पटियाला श्री हरदीप सिंह, पर्यटन अधिकारी बठिंडा श्री गुरजोत सिंह उपस्थित रहे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

five − two =

Most Popular

To Top