पंजाब

ब्रह्म मोहिेंद्रा ने नशामुक्ति मुहिम के अंतर्गत 5 जागरूकता वैनों को दिखाई हरी झंडी

जुलाई महीने के दौरान सी.एच.सी. स्तर पर खोले गए 37 नये ओ.ओ.ए.टी क्लीनिक

राज्य में सितम्बर 2018 तक खोले जाएंगे 100 और नये ओ.ओ.ए.टी. क्लीनिक 

हर सरकारी नशामुक्ति केंद्र, पुर्नवास केंद्र और ओ.ओ.ए.टी. क्लीनिक में मुफ्त इलाज की सुविधा

चंडीगढ़,

पंजाब के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री ब्रह्म मोहिंद्रा द्वारा आज 5 आई.ई.सी (इन्फर्मेशन, एजुकेशन एंड कम्युनिकेशन) जागरूकता वैनों की शुरुआत की गई जिससे राज्य के लोगों को सरकार द्वारा चलाए गए नशामुक्ति प्रोग्राम संबंधी अवगत करवाया जा सके। यह अति-आधुनिक वैनें लोगों को नशाखोरी से निजात दिलाने संबंधी इलाज सेवाओं और नशा की आदत के बुरे प्रभावों संबंधी सारी जानकारी उपलब्ध करवाएँगी। इस संबंधी जानकारी देते हुए श्री मोहिंद्रा ने बताया कि यह 5 आई.ई.सी वैनें समूचे राज्य में नशामुक्ति प्रोग्राम संबंधी जानकारी देने के इलावा निवासियों को सरकार द्वारा चलाई जा रही नशामुक्ति मुहिम संबंधी जानकारी प्रदान करेंगी और उनको इस मुहिम में बढ़-चढ़ कर सहयोग देने के लिए प्रेरित किया जा सके। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग ने इन वैनों के लिए एक रूपरेखा तैयार की है जिसके अधीन सभी जि़लों को पाँच भागों में बँाटा गया है।  उन्होंने बताया कि एक महीने में हरेक वैन द्वारा राज्य के हर कलस्स्टर के अंदरूनी क्षेत्रों के कम से -कम 30 स्टेशनों (गाँव और ब्लॉक) तक पहुँच करने का काम संपूर्ण किया जायेगा। इसके पीछे उद्देश्य सिफऱ् यह है कि राज्य में नशों की कुरीति से पीडि़त हर नौजवान तक निजी तौर पर पहुँच की जाये और उनको नशाखोरी से छुटकारा दिलाने संबंधी इलाज और काऊंसलिंग की सुविधा की जानकारी दी जा सके। इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि मरीज़ों को हर सरकारी नशामुक्ति केंद्र, पुर्नवास केंद्र और ओ.ओ.ए.टी. क्लीनिक में मुफ़्त इलाज की सुविधा प्रदान की जा रही है। उन्होंने बताया कि इस संबंधी ज़रूरी हिदायतें सभी जि़लों को जारी की जा चुकी हैं।

श्री मोहिंद्रा ने राज्य में ओ.ओ.ए.टी क्लीनिकों को मिल रही सफलता संबंधी जानकारी देते हुए कहा कि इन क्लीनिकों की अच्छी कारगुज़ारी के मद्देनजऱ सरकार द्वारा जुलाई महीने के दौरान मोहाली, रोपड़, फतेहगढ़ साहिब, लुधियाना, बरनाला, बठिंडा, फरीदकोट और फिऱोज़पुर जि़लों में 37 नये ऐसे क्लीनिक खोले गए। अब राज्य में कुल 117 ओ.ओ.ए.टी क्लीनिक मौजूद हैं जो कि नशाखोरी से पीडि़त मरीजों को आसान स्वास्थ्य सेवाएं और इलाज (ओ.पी.डी) प्रदान करवा रहे हैं। उन्होंने कहा ‘‘राज्य के बाकी जि़लों अमृतसर, तरन तारन और मोगा में भी सी.एच.सी.(कम्युनिटी हैल्थ सैंटर) और डिस्पैंसरियों में 100 अन्य ओ.ओ.ए.टी क्लीनिक सितम्बर 2018 तक खोल दिए जाएंगे।’’ उन्होंने बताया कि जुलाई महीने के दौरान 15782 मरीज़ों द्वारा रजिस्ट्रेशन करवाई गई जो कि पहले से कहीं अधिक है जबकि ओ.ओ.ए.टी क्लीनिक में अब तक ओपीडी में 537562 मरीजों की आमद हुई है। स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी स्पष्ट किया कि राज्य सरकार ने सिरिंजों की खुली बिक्री पर लगाई रोक को वापिस ले लिया था। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय एड्ज़ कंट्रोल संस्था (नैको) द्वारा संक्रमक और गंभीर बीमारियों पर काबू पाने के लिए पूरे देश में मुफ़्त सिरिंजें मुहैया करवाई जाती हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

19 − ten =

Most Popular

To Top