कांगड़ा

वीर सैनिकों से अनुशासन, समर्पण और प्रतिबद्धता की सीख लें युवा : किशन कपूर

खाद्य आपूर्ति मंत्री ने शहीद स्मारक के सौंदर्यकरण को दिए 10 लाख

धर्मशाला खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री किशन कपूर ने सभी लोगों विशेषकर युवाओं से भारतीय सेना के वीर सैनिकों के जीवन से अनुशासन, समर्पण और प्रतिबद्धता की सीख लेने का आह्वान किया है। कपूर ने कहा कि भारत के वीर सैनिक एक लक्ष्य लेकर कठिन परिस्थितियों में भी दुर्गम क्षेत्रों में अपने प्राणों व परिवार की परवाह किये बिना देश की रक्षा के लिए तत्पर रहते हैं। हम सभी को उनकी बहादुरी से जीवन के लिए सबक लेना चाहिए।किशन कपूर वीरवार को कारगिल विजय दिवस के अवसर पर धर्मशाला के दाड़ी में स्थित जनजातीय भवन में आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए बोल रहे थे। इस मौके किशन कपूर ने शहीदों के चित्रों पर पुष्प चढ़ाकर कर श्रद्धाजंलि अर्पित की। खाद्य आपूर्ति मंत्री ने कहा कि कारगिल विजय दिवस हर भारतीय के लिए गर्व का दिन है। उन्होंने कहा 3 मई, 1999 को शुरू होने वाला कारगिल युद्ध आज के ही दिन यानि 26 जुलाई, 1999 को समाप्त हुआ था। इस यु़द्ध में हमारी बहादुर सेना ने दुश्मनों को खदेड़ को तिरंगे की शान को और ऊंचा किया था। उन्होंने कहा कि इस ऐतिहासिक अवसर पर हम उन शूरवीर सैनिकों को शत-शत नमन करते हैं जिन्होंने भारतवर्ष की अखंडता व अस्मिता बनाए रखने के लिए अपने प्राणों की आहूति दी।
उन्होंने कारगिल युद्ध के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के सशक्त नेतृत्व का भी जिक्र किया एवं उनका आभार जताया। उन्होंने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने कारगिल युद्ध के समय शहीद सैनिकों की पूरे राजकीय सम्मान के साथ अन्तेष्टि की व्यवस्था के निर्देश दिए थे। उन्होंने राज्य सरकारों को भी निर्देश दिये थे कि शहीद के परिवार के एक सदस्य को सरकारी सेवा में नौकरी दी जाए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 26 जुलाई के विजय दिवस के दिन पर पूरे भारतवर्ष में विशेष आयोजन कर वीर सैनिकांे की पुण्य स्मृतियों को नमन करने की उदात परंपरा को बल दिया है। आज पूरे देश में पूरे जोश व सम्मान के साथ कारगिल विजय दिवस मनाया जा रहा है।
किशन कपूर ने कहा कि शहीद सैनिकों, भूतपूर्व सैनिकों तथा सेवारत सैनिकों तथा स्वतंत्रता सेनानियों द्वारा राष्ट्र को दी गई सेवाओं के लिए समस्त प्रदेशवासी उनके कृतज्ञ हैं। प्रदेश के स्वतंत्रता सेनानी, भूवपूर्व सैनिक तथा उनके परिजन सम्मानपूर्वक जीवनयापन कर सकें, इसके लिए प्रदेेश सरकार ने अनेेक योजनाएं चलाई हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार शहीदों के आश्रितों को करूणामूलक आधार पर रोजगार प्रदान कर रही है। उन्होंने कहा कि अब यह लाभ अर्ध सैनिक बलों में हिमाचली शहीदों के आश्रितों को भी दिया जाएगा।
शहीदों के परिवार किये सम्मानित
इस दौरान खाद्य आपूर्ति मंत्री ने अलग अलग अवसरों पर देश की रक्षा में जीवन अर्पण करने वाले शहीद सैनिकों के परिजनों को सम्मानित किया। उन्होंने शहीद नायब सूबेदार खेम चन्द राणा की सुपुत्री जय राणा, शहीद अमित थापा की माता मीना थापा, शहीद बुद्धि सिंह की धर्मपत्नी निर्मला देवी, शहीद अंकितप्रधान के पिता सतप्रकाश तथा माता ज्योति प्रधान, मेजर शेखर थापा के पिता रविन्द्र थापा, शहीद बालमुकुंद के भाई प्रताप, हवलदार अमरनाथ की धर्मपत्नी कमला देवी तथा नायब सूबेदार हरवंस सिंह के सुपुत्र डॉ. विजय शर्मा को सम्मानित किया।
युवाओं से नशे से दूर रहने का किया आह्वान
खाद्य आपूर्ति मंत्री नेे युवाओं के उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए उनसे नशे की बुराई से दूर रहने तथा अन्य को भी इस बुराई से दूर रहने के लिए प्रेरित करने को कहा। उन्होंने कहा कि भारत विश्व के उन चुनिंदा देशों में शामिल है जहां की अधिकांश जनसंख्या युवा है। हमारे युवा भविष्य के निर्माण एवं भारत को विश्व गुरू बनाने के सपने को साकार करेंगे। इसके लिए आवश्यक है कि युवा अपनी असीमित ऊर्जा को सकारात्मक दिशा प्रदान करें तथा अपने देश के शूरवीरों से प्रेरणा लें।
इस अवसर पर सेवानिवृत ब्रिगेडियर एवं मनोनीत पार्षद सुभाष पाठक, सेवानिवृत ब्रिगेडियर नसीब सिंह राणा, उप निदेशक सैनिक कल्याण बोर्ड स्कवाड्रन लीडर मनोज राणा तथा कर्नल जसपाल जसरोटिया ने भी सेना और विभिन्न युद्धों के दौरान के अपने अनुभव सांझा किये।
भाजपा मंडल महामंत्री डॉ. विजय शर्मा ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी को राष्ट्र की अखंडता और अस्मिता को अतुंग शिखर पर ले जाने की शपथ दिलवाई।

10 लाख से होगा शहीद स्मारक का सौंदर्यकरण
इससे पहले खाद्य आपूर्ति मंत्री ने धर्मशाला शहीद स्मारक में जाकर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की । सेवानिवृत ब्रिगेडियर ओंकार चंद ने देश की अखंडता और अस्मिता की रक्षा के लिए आमरण तत्पर रहने की शपथ दिलाई।
इस मौके किशन कपूर ने शहीद स्मारक के सौंन्दर्यीकरण के लिए अपनी विधायक निधि से 10 लाख रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि शहीद स्मारक वीर जवानों के प्रति सम्मान एवं श्रद्धांजलि का अनुपम स्थल है, जहां प्रदेश और बाहरी राज्यों से लोग बड़ी श्रद्धा से आते हैं। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को योजनापूर्वक स्थल के सौंदर्यकरण का कार्य करवाने के निर्देश दिए।
खाद्य आपूर्ति मंत्री ने सुनी जनसमस्याएं
किशन कपूर ने दाड़ी में लोगों की समस्याओं को सुना। उन्होंने अधिकतर समस्याओं का मौके पर समाधान कर दिया तथा शेष समस्याओं के समाधान के लिए सम्बंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि प्राथमिकता के आधार पर लोगों की समस्याओं का निपटारा करें ताकि लोगों को किसी भी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े।
इस अवसर पर उपायुक्त कांगड़ा संदीप कुमार, पुलिस अधीक्षक संतोष पटियाल, अतिरिक्त उपायुक्त के.के.सरोच, सेना के प्रतिनिधि, शहीद स्मारक समिति के पदाधिकारी, मंडलाध्यक्ष कैप्टन रमेश अटवाल, जिला महामंत्री यशपाल सभ्रवाल, मनोनीत पार्षद राजेन्द्र कुमार, तेज सिंह, वीरू बालिया, पार्षद सर्वचन्द गलोटिया, पार्टी के अनुसूचित जनजाति के मंडल अध्यक्ष सुभाष चडलू, सह मीडिया प्रभारी नरेंद्र पठानिया, कैप्टन पुरषोतम, विपिन नैहरिया, प्रकाश चौधरी सहित भाजपा के अन्य पदाधिकारी और विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा शहीदों के परिजन तथा बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

17 − 4 =

Most Popular

To Top