संसार

हेलीकॉप्‍टर के इस्तेमाल से विवादों में इमरान खान, लोगों ने कहा- पीएम की कथनी करनी में फर्क

लाहौर पाकिस्तान की सत्तारूढ़ पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) ने देश की बागडोर अपने हाथ लेने के बाद सबसे पहले फिजूलखर्ची पर लगाम कसने के लिए कैंपेन की शुरुआत सरकारी अधिकारियों के साथ ही की। इस क्रम में सबसे पहले सरकारी अधिकारियों द्वारा हेलीकॉप्‍टर के इस्‍तेमाल पर प्रतिबंध लगाया गया। लेकिन पीएम खान और पंजाब के सीएम द्वारा हेलीकॉप्‍टर के इस्‍तेमाल की आलोचना हो रही है।निजी विमान में सपरिवार पंजाब के मुख्यमंत्री उस्मान बुजदर की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद मंगलवार को नये शासकों की हवाईयात्रा सुर्खियां बन गई। बता दें क‍ि सोमवार को खानेवाल जिले के मिया चान्‍नू में शोकसभा के लिए मुख्यमंत्री ने निजी हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल किया था। वे लाहौर से इस्‍लामाबाद भी हेलीकॉप्टर में ही गए।नई सरकार ने फिजूलखर्ची रोकने के लिए राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री समेत अधिकारियों व नेताओं के सरकारी निधि को अपने मन से खर्च करने और प्रथम श्रेणी से हवाई यात्रा करने पर प्रतिबंध लगा दिया है। यह उसके अपने खर्चों पर लगाम लगाने के अभियान का हिस्सा है। सूचना मंत्री फवाद चौधरी के अनुसार, प्रधानमंत्री इमरान खान की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में यह फैसला किया गया। उन्होंने मीडिया से कहा, ‘यह निर्णय किया गया है कि राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, प्रधान न्यायाधीश, सीनेट चेयरमैन, नेशनल असेंबली के स्पीकर और मुख्यमंत्री क्लब/बिजनेस श्रेणी में यात्रा करेंगे।’इस बीच यह भी खबर आई की प्रधानमंत्री इमरान खान और प्रथम महिला बुशरा इमरान बानिगाला में अपने निजी आवास और प्रधानमंत्री भवन के बीच आवागमन के लिए आधिकारिक हेलीकॉप्‍टर का इस्‍तेमाल करते हैं।पीएम का बचाव करते हुए फवाद चौधरी ने वीआइपी संस्‍कृति और सिक्‍योरिटी प्रोटोकॉल के बीच अंतर जाहिर किया।हेलीकॉप्‍टर के इस्‍तेमाल की खबर फैलते ही सोशल मीडिया पर पीएम खान के फिजूलखर्ची रोकने और साधारण जिंदगी जीने को लेकर विवाद शुरू हो गया। जनता ने पीएम पर कथनी और करनी को लेकर सवाल उठाया वहीं पार्टी नेताओं ने कहा कि इसमें किसी तरह की परेशानी नहीं।पंजाब के सूचना मंत्री फयाजुल हसन चौहान ने कहा कि मुख्‍यमंत्री द्वारा हेलीकॉप्‍टर के इस्‍तेमाल में किसी तरह की मुश्‍किल नहीं और पार्टी चीफ व प्रधानमंत्री के लिए बचाव में उन्‍होंने ट्वीट कर कहा कि ‘पीएम द्वारा हेलीकॉप्‍टर के इस्‍तेमाल की जो लोग निंदा कर रहे हैं उन्‍हें यह जान लेना चाहिए कि पीएम हाउस से बानिगाला में उनके निवास स्‍थान के लिए हेलीकॉप्‍टर के जरिए 3 मिनट में पहुंचा जा सकता है और इस रास्‍ते को तय करने के लिए गाड़ियों के इस्‍तेमाल की तुलना में कहीं सस्‍ता है। साथ ही गाड़ी के जरिए रास्‍ता तय करने में सिक्‍योरिटी की भी 5-7 गाड़ियां होंगी। जबकि हवाई यात्रा अधिक सुरक्षित है और इसमें किसी तरह का ट्रैफिक जाम भी नहीं आता।दूसरी ओर फवाद चौधरी ने भी प्रेस कांफ्रेंस में पीएम इमरान खान का बचाव किया और कहा कि पीएम सप्‍ताहांत में अपने घर जाने के लिए हेलीकॉप्‍टर का इस्‍तेमाल करते हैं और तीन से चार मिनट में घर पहुंच जाते हैं। उन्‍होंने आगे कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के लिए खाना आधिकारिक हेलीकॉप्‍टर के जरिए इस्‍लामाबद से मुर्रे आता था।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

19 − 11 =

Most Popular

To Top