पंजाब

बिजली मंत्री ने घर-घर नौकरी मुहिम के अंतर्गत 622 सहायक लाईनमैंनों को नियुक्ति पत्र बांटे

पंजाब सरकार द्वारा पहले खऱीदे जा रहे 2000 रुपए प्रति क्विंटल की जगह पछवाड़ा खानों से अब 860 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से मिलेगा कोयला – बिजली मंत्री 

चंडीगढ़ / बठिंडा,

बिजली और नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा मामलों के मंत्री, पंजाब श्री गुरप्रीत सिंह कांगड़ ने आज यहाँ 622 सहायक लाईनमैंनों को नियुक्ति पत्र सौंपे जो कि लम्बे समय से लम्बित पड़े थे। इस मौके पर बोलते हुए श्री कांगड़ ने कहा कि घर -घर नौकरी मुहिम पंजाब सरकार के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व में एक पहलकदमी है, जिसके अंतर्गत उन्होंने राज्य के हर घर में रोजग़ार के मौके मुहैया करवाने का वायदा किया है। श्री कांगड़ ने आगे कहा कि पंजाब पावर स्टेट कार्पोरेशन लिमिटेड द्वारा पहले ही 2800 सहायक लाईनमैंनों, 300 जूनियर इंजीनियरों और 248 सब-स्टेशन सहायकों की नियुक्ति की जा चुकी है। इसके अलावा विभाग द्वारा सेवाकाल के दौरान मारे गए 698 वारिसों को तरस के आधार पर नौकरी मिल चुकी है। श्री कांगड़ ने आगे कहा कि जल्द ही पी.एस.पी.सी.एल. द्वारा 338 लोअर डिवीजऩ क्लर्कों की भर्ती की जायेगी। ऊर्जा मंत्री ने बताया कि राज्य ने हाल ही में झारखंड की पछवाड़ा माईनज़ के साथ एक समझौता सहीबद्ध किया है, जिसके अंतर्गत पी.एस.पी.सी.एल. को अब 860 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से कोयला मिलेेगा जोकि पहले 2000 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से मिलता था। उन्होंने यह भी बताया कि इस समझौते से 800 करोड़ रुपए की सालाना बचत होगी।  श्री गुरप्रीत सिंह कांगड़ ने पी.एस.पी.सी.एल की उपलब्धियां गिनवाते हुए कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह के योग्य नेतृत्व अधीन बिजली संबंधी नयी योजनाएँ और नीतियाँ बनाकर उपभोक्तओं को हर संभव सुविधा, सुगम और सुचारू सेवाएं मुहैया करवाने के लिए कार्पोरेशन वचनबद्ध है। राज्य के सभी उप-मंडलों में पड़ते नीम शहरी क्षेत्रों में ट्यूबवैल कनैक्शनों के स्वामित्व तबदील करवाने संबंधी कैंपों का आयोजन भी विभाग द्वारा किया जा रहा है। अब किसान खपतकारों के लिए मौके पर ही नाम बदली करवाने की एक विशेष सुविधा भी दी जा रही है, जिससे बिजली दफ्तरों में बार -बार चक्कर लगाने की परेशानी से भी बचा जा सकेगा। श्री कांगड़ ने आगे बताया कि पी.एस.पी.सी.एल द्वारा 16 और 17 अगस्त को क्रमवार 216 करोड़ रुपए और 124 करोड़ रुपए डिजिटल तरीकों से इकठ्ठा किये गए हैं। जि़क्रयोग्य है कि पिछले महीने बिजली बिलों के भुगतान के तौर पर 16 जुलाई को 100 करोड़ और 17 जुलाई को 220 करोड़ की रकम इक_ी करके एक नया रिकॉर्ड स्थापित किया गया था।

उन्होंने बताया कि पी.एस.पी.सी.एल के मुख्य प्रशासनिक निदेशक इंजीनियर बलदेव सिंह सरां, पी.एस.पी.सी.एल के समूह निदेशक और इंजीनियर साहिबान, वित्त विभाग के उच्च अधिकारी और समूह कर्मचारी बधाई के पात्र हैं। श्री कांगड़ ने बताया कि बहुत जल्द ही विभाग की तरफ से डिजिटल तरीकों से भुगतान के सम्बन्ध में एक जागरूकता मुहिम का आग़ाज़ किया जा रहा जिससे भविष्य में और भी अच्छे नतीजे आने की संभावना है। बिजली मंत्री ने और जानकारी देते हुए कहा कि राज्य के हर तरह के बिजली खपतकारों को बेरोक 24 घंटे बिजली की सेवा दी जा रही है और इस बार धान की फ़सल के दौरान किसानों को 8 घंंटे निरंतर बिजली सेवा मुहैया करवाई जा रही है।  उन्होंने यह भी बताया कि हाल ही में कार्पोरेशन द्वारा खपतकारों के कल्याण और सुविधा के लिए कई नई नीतियाँ और योजनाएँ जैसे वलैंटरी डिसक्लोजर स्कीम, ग्रामीण क्षेत्रों में जहाँ भी ज़रूरत हो ट्यूुबवैल कनैक्शनों के स्वामित्व के तबादले संबंधी मौक पर ही निपटान की योजना आदि शामिल हैं। इस मंतव्य के अंतर्गत पी.एस.पी.सी.एल द्वारा डिस्ट्रीब्यूशन विंग अधीन आते विभिन्न दफ्तरों में 369 कैंपों का आयोजन भी किया गया है। इसके अलावा राज्य में कम हो रहे पानी की समस्या से निपटने के लिए ‘पानी बचाओ पैसा बचाओ’ स्कीम भी शुरू की गई है। इस मौके पर कांग्रेस नेता श्री नरिन्दर भलेरिया, ई.बलदेव सिंह सरां, मुख्य प्रशासनिक निदेशक, श्री आर.पी. पांडव, डायरैक्टर (प्रबंधकी), ई. कुलदीप गर्ग, मुख्य इंजीनियर गुरू नानक देव थर्मल प्लांट बठिंडा, लखविन्दर सिंह, मुख्य इंजीनियर गुरू हरगोबिन्द थर्मल प्लांट लहरा मुहब्बत, ई. भगवान सिंह मठाड़ू, मुख्य इंजीनियर /डीएस, बठिंडा पश्चिमी जोन और बड़ी संख्या में अधिकारी और कर्मचारी भी शामिल थे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

5 × three =

Most Popular

To Top