मध्यप्रदेश

केन्द्र से नेफेड की शेष राशि 2624 करोड़ रुपये शीघ्र जारी करने की माँग

न्यूनतम समर्थन मूल्य की राशि बढ़ाने पर माना केन्द्र का आभार केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री सिंह से मिले मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज नई दिल्ली में केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधामोहन सिंह से मुलाकात कर चना, मसूर और सरसों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदने की अनुमति देने के लिए आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने बताया कि केन्द्र सरकार द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य की बढ़ोत्तरी से किसानों में अपार प्रसन्नता है, किसान गदगद हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किसानों के हित में लिये गये निर्णय के लिये प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और कृषि मंत्री को कोटि-कोटि धन्यवाद दिया। 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने केन्द्रीय मंत्री श्री सिंह को बताया कि प्रदेश में 19.16 लाख मीट्रिक टन चना, मसूर तथा सरसों का उपार्जन नेफेड द्वारा किया गया था। इसकी कुल देय राशि 8562 करोड़ रुपये के विरुद्ध नेफेड द्वारा राज्य सरकार को अभी तक 5938 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। श्री चौहान ने आग्रह किया कि शेष राशि 2624 करोड़ रुपये का भुगतान नेफेड द्वारा राज्य की उपार्जित एजेंसियों को शीघ्र कराया जाये। श्री चौहान ने कहा कि मूंग की फसल को भावांतर भुगतान योजना में शामिल करने पर लगभग 800 करोड़ रुपये का व्यय होगा। उन्होंने माँग की कि इस योजना में 50-50 प्रतिशत राशि केन्द्र और राज्य सरकार वहन करे। इससे किसानों को योजना का समय पर लाभ मिल सकेगा। श्री चौहान ने खरीफ 2018 की सोयाबीन, मूंग, अरहर, मूंगफली, तिल आदि के  उपार्जन को प्राइस सपोर्ट स्कीम के अंतर्गत स्वीकृत करने का अनुरोध किया। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश में सितम्बर माह के अन्त तक सोयाबीन, धान, उडद, मक्का की आवक शुरू हो जायेगी, जिसका उपार्जन समय पर किया जाना होगा। इसके लिए मुख्यमंत्री ने नेफेड की क्रेडिट लिमिट 16 हजार करोड़ बढ़ाए जाने का अनुरोध किया। साथ ही खरीदी और भंडारण की व्यवस्था में केन्द्र सरकार से सहयोग माँगा।

नगदी समस्या निवारण के लिये केन्द्रीय वित्त मंत्री का माना आभार

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज नई दिल्ली में केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री पीयूष गोयल से भी मुलाकात कर उन्हें प्रदेश में गत दिनों रही बैंकों में नगदी की समस्या के निराकरण के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया। ज्ञातव्य है कि गत दिनों प्रदेश में बैंकों में नगदी की समस्या होने के कारण आम जनता विशेष कर किसानों को बैंकों से पैसा लेने में काफी दिक्कतें आ रही थीं। केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री पीयूष गोयल के प्रयासों से प्रदेश के बैंकों में इस समस्या का समाधान हो गया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि अब बैंकों में पर्याप्त मात्रा में नगद राशि उपलब्ध है। इससे राज्य सरकार द्वारा चलायी जा रही कल्याणकारी योजनाओं का भुगतान लाभार्थियों तक सरलता से पहुँच रहा है। 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

five × 3 =

Most Popular

To Top