पंजाब

पंजाब द्वारा राज्य में संयुकत हुनर विकास केंद्र स्थापित करने के लिए कैनेडा तथा यू.के. से हुए समझौते सहीबध, २०२० से होंगे कार्यशील – चन्नी

प्रौग्रेसिव पंजाब निवेश स6मेलन दौरन ‘मेरा हुनर मेरी शान’ विष्य पर करवाया गया विशेश सैशन
चंडीगढ़ – पंजाब सरकार द्वारा राज्य में संयुकत हुनर विकास केंद्र स्थापित करने के लिए कैनेडा तथा यू.के. से हुए समझौते सहीबध किए गए है, यह प्रौजेकट अगले साल शुरु होने जा रहे है।इस संबंधी घोष्णा आज यहां प्रौग्रेसिव पंजाब निवेश स6मेलन दौरान ‘मेरा हुनर मेरी शान ’ विष्य पर करवाए गए सैशन दौरान पंजाब के तकनीकी शिक्षा तथा रोजगार उत्पत्ति मंत्री स. चरणजीत सिंह चन्नी ने की। उन्होंने बताया कि विदेशी माहिर अंतरराष्ट्रीय स्तर के उद्ययोग की आवश्यकताओं के अनुसार सिखलाई देंगे, जब कि बुनियादी ढांचा पंजाब सरकार की ओर से मुहैय्या करवाया जाएगा। उन्होंने बताया कि यह प्रौजेकट २०२० में शुरु होने जा रहे है जिस के लिए पहले ही कैनेडा तथा यू.के के साथ समझौते सहीबध किए जा चुके है। उन्होंने बताया कि विश्व स्तरीय उद्ययोग की आवश्यकताओं के अनुसार हुनर विकास की सिखलाई नौजवानों को देने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर की बड़ी कंपनियों ने पंजाब के साथ मिल कर राज्य में हुनर सिखलाई केंद्र स्थापित करने के लिए हाथ बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि दुनिया भर के उद्ययोगों के लिए हुनरमंद मानव वसीलों की बड़ी कमी है तथा विश्व स्तर पर उद्ययोग की आवश्यकताओं के अनुसार मियारी हुनरमंद मानव शकित मुहैय्या करवा कर पंजाब इस आवश्यकता को पूरा करने की सर्मथा रखता है। उन्होंने कहा कि राज्य के नौजवानों को मियारी तकनीकी सिखलाई तथा हुनर सिखलाई प्रदान करने के लिए पंजाब ने कई बड़े कदम उठाए है। उन्होंने कहा कि पंजाब देश का पहला राज्य बन गया है जिस ने मौजूदा तथा भविष्य के उद्ययोग की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए तकनीकी शिक्षा तथा बहुतमंतवी कोर्सों के सिलेबस में बड़े बदलाव किए है। इस के अलावा राज्य में मियारी हुनर सिखलाई के लिए उद्ययोग की शमुलियत के द्वारा उनकी आवश्यकताओं के अनुसार सिखलाई दी जा रही है। इस मौके पर मंत्री ने राज्य के उद्ययोगिक घरानों को निमंत्रण दिया कि वे अपने उद्ययोगों के अंदर ही हुनर विकास केंद्र तथा सैंटर फार एकसीलैंस स्थापित करें ताकि उनकी आवश्यकताओं के अनुसार नौजवानों को हुनर सिखलाई दी जा सके। उन्होंने बताया कि इस प्रौजेकट के तहत सिखलाई के लिए विद्यार्थियों की फीसों का खर्चा सरकार की ओर से उठाया जाएगा, जिस के कारण उद्ययोगों पर कोई वित्तीय बोझ नहीं पड़ेगा बल्कि उद्ययोगों को मियारी हुनरमंद श्रमिक मिलेंगे।सैशन में हिस्सा लेने वाले पैनल में एन.एस.डी.सी के मु2य कार्यकारी अधिकारी मनीश कुमार, दि शैलटर की मु2य कार्यकारी अधिकारी सतिंदर सत्ती, सैकटर स्किल कौशल 4यूटी एंड वैलनैस की मुखी कार्यकारी अधिकारी मोनिका, विद्यांता स्किल के मु2य कार्यकारी अधिकारी जयदीप, स्किल मिशन पंजाब के सलाहकार संदीप कौड़ा तथा शाही एैकसपोरट्स प्राइवेट लिमिटेड के डायरैकटर जे.डी.गिरी शामिल है। पैनल सदस्यों ने राष्ट्रीय हुनर विकास कौशल की आवश्कता, मीडिया के क्षेत्र में हुनर विकासकी आवश्यकता, महिला सश्कितीकरण में हुनर विकास की भूमिका तथा विदेशों में नौजवानों को रोजगार के मौके प्रदान करने के लिए नौजवानों को हुनरमंद बनाने संबंधी अपने विचार पेश किए।इस मौके पर अनुराग वर्मा प्रमुख सचिव तकनीकी शिक्षा, राहुल तिवाड़ी सचिव रोजगार जनरेशन तथा मिशन डायरैकटर पंजाब हुनर विकास मिशन तथा रवि भगत सचिव पंजाब मंडी बोर्ड भी उपस्थित थे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

8 − 4 =

Most Popular

To Top