पंजाब

करतारपुर साहिब के दर्शनों को जाने की प्रक्रिया सुविधाजनक बनाई जाये-सुखजिन्दर सिंह रंधावा

सहकारिता मंत्री ने देश के प्रधानमंत्री को इस मामले में दख़ल देने कि की मांग

चंडीगढ़ – पंजाब के सहकारिता मंत्री स. सुखजिन्दर सिंह रंधावा ने करतारपुर गलियारे के द्वारा गुरुद्वारा श्री दरबार साहिब, करतारपुर के दर्शन करने जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए जटिल प्रक्रिया को खुले दर्शन दीदार के रास्ते में बड़ी रुकावट बताते हुए भारत सरकार को इसकी प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए कहा है। स. रंधावा ने देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से अपील की है कि वह इस मामले में निजी दख़ल देकर गलियारे के द्वारा गुरुद्वारा साहिब के दर्शन करने जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया सरल और स्पष्ट बनाने के लिए हिदायतें करें। पुलिस पड़ताल और आगामी आवेदन करने की शर्तें भी ख़त्म की जाएँ। उन्होंने साथ ही यह भी कहा कि पासपोर्ट की शर्त ख़त्म होनी चाहिए, इसलिए भारत सरकार यह मामला पाकिस्तान सरकार के पास उठाए।स. रंधावा ने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान की तरफ के पासपोर्ट की शर्त ख़त्म करने सम्बन्धी किये ट्वीट की ख़बर प्रसारित होने के बाद श्रद्धालुओं के लिए इस सम्बन्धी और भी दुविधा हो गई है क्योंकि जब वह ऑनलाइन फॉर्म भरने लगते हैं तो सबसे पहला विवरण पासपोर्ट का भरना पड़ता है। उन्होंने प्रधानमंत्री को यह अपील की है कि वह गृह मंत्रालय को वैबसाईट पर पासपोर्ट के विवरण वाला कॉलम ख़त्म करें और यदि पासपोर्ट की शर्त अमल के रूप में अभी भी लागू है तो यह मामला अपने पाकिस्तानी हमरुतबा के पास उठाएं जिससे पासपोर्ट की शर्त ख़त्म हो सके। उन्होंने कहा कि बहुत से श्रद्धालू बड़ी उम्र के हैं जिन्होंने अपने पासपोर्ट नही बनवाए हुए और अब उनके खुले दर्शन दीदार के रास्ते में पासपोर्ट बड़ी दिक्कत बन रहा है।सहकारिता मंत्री ने कहा कि गृह मंत्रालय द्वारा करतारपुर जाकर गुरुद्वारा साहिब के दर्शन करने के लिए आवेदन करने वाले श्रद्धालुओं के लिए पड़ताल आदि की अनावश्यक रूकावटें लगाई गई हैं जबकि वाघा के रास्ते पाकिस्तान जाने वाले भारतियों और दूसरे मुल्कों में जाने वाले भारतियों के लिए ऐसी कोई शर्त या नियम नहीं है। उन्होंने कहा कि गलियारे के द्वारा दर्शन करने जाने वाले श्रद्धालुओं में बहुत उत्सुकता है परंतु जटिल प्रक्रिया उनकी इच्छा के रास्ते में बड़ी रुकावट बन रही है जिसको भारत सरकार को ख़त्म करना चाहिए।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

eighteen + 3 =

Most Popular

To Top