संसार

वेनेजुएला के राष्‍ट्रपति मादुरो के लिए दुश्‍मनबनता जा रहा है अमेरिका

वेनेजुएला दुनिया में कच्‍चे तेल के सबसे अधिक भंडार के तौर पर पहचाना जाता रहा है। लेकिन इसके बाद भी अब यह देश आर्थिक और राजनीतिक तौर पर बदहाली झेल रहे हैं। आलम ये है कि खुद को देश का राष्‍ट्रपति घोषित करने वाले विपक्ष के नेता और नेशनल असेंबली के स्पीकर जुआन गुएडो वेनेजुएला के राजनीतिक संकट को सुलझाने के लिए अमेरिका से मदद मांग रहे हैं। उन्‍होंने इसके लिए अमेरिका अपने राजनयिक प्रतिनिधि कार्लोस वेचियो को अमेरिकी दक्षिण कमान से मिलने के लिए कहा है। हालांकि, उनकी इस अपील से पहले ही अमेरिकी दक्षिण कमान के प्रमुख क्रेग फालर ने ट्वीट किया कि वह वेनेजुएला के विपक्षी नेता की मदद के लिए तैयार हैं। गुएडो ने अपने समर्थन में एक विशाल रैली को संबोधित करते हुए इसकी जानकारी भी दी। इससे पहले भी 30 अप्रैल को गुएडो ने मादुरो को सत्‍ता से बेदखल करने अपील की थी। आपको बता दें कि गुएडो को 50 से ज्यादा देशों ने अंतरिम राष्ट्रपति के रूप में मान्यता दी है। इसमें अमेरिका के अलावा कनाडा, अर्जेंटीना, ब्राजील, चिली, कोलंबिया, कोस्टा रिका, ग्वाटेमाला, होंडुरास, पनामा, पैराग्वे और पेरू समेत 54 देश शामिल हैं।दूसरी तरफ राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ने खुफिया एजेंसी बोलिवरियन नेशनल इंटेलिजेंस सर्विस के पूर्व निदेशक मैनुएल रिकार्डो क्रिस्टोफर पर तख्तापलट की हालिया कोशिश का आरोप लगाया है। मादुरो ने शुक्रवार को कहा कि जनरल मैनुएल क्रिस्टोफर ने तख्तापलट की साजिश की, वह कायर और देशद्रोही है। उनके मुताबिक जांच में पुष्टि हुई है कि जनरल क्रिस्टोफर को अमेरिकी खुफिया एजेंस सीआईए ने नियुक्त किया था। वह एक साल से अधिक समय से सीआईए में कार्यरत था और एक घुसपैठिए देशद्रोही के तौर पर काम कर रहा था। उन्होंने कहा कि उसके खिलाफ जल्द ही कड़ी कार्रवाई की जाएगी।गौरतलब है कि वेनेजुएला में हजारों लोग मौजूदा राष्ट्रपति निकोलस मादुरो के खिलाफ जुआन गुएडो के नेतृत्‍व में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इस वर्ष जनवरी में मादुरो ने राष्ट्रपति के तौर पर अपने दूसरे कार्यकाल की शपथ ली थी। इसके बाद उनके ऊपर चुनावों में गड़बड़ी कराने के संगीन आरोप लगे। यहां पर आपको ये भी बता दें कि राष्‍ट्रपति मादुरो के देश में नोटबंदी लागू करने के बाद से ही वहां की अर्थव्‍यवस्‍था गंभीर संकट से गुजर रही है। आलम ये है कि देश में मुद्रास्फिति की दर में लगातार लाखों फीसद की वृद्धि हो चुकी है। इसकी वजह से लोग वहां पर दाने-दाने को मोहताज हो रहे हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

sixteen + 16 =

Most Popular

To Top