संसार

विकीलीक्स संस्थापक जूलियन असांजे को 50 सप्ताह की सजा

विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे को लंदन की एक अदालत ने 2012 के जमानत की शर्तों का उल्लंघन करने के मामले में दोषी पाए जाने पर 50 सप्ताह की सजा सुनाई है। असांजे को 11 अप्रैल को ब्रिटेन में गिरफ्तार किया गया था। ऑस्ट्रेलियाई नागरिक असांजे ने 2012 से लंदन में इक्वाडोर के दूतावास में शरण ले रखी थी।

असांजे को बुधवार को लंदन की एक अदालत में पेश किया जहां मामले पर सुनवाई की गई। स्वीडन की दो महिलाओं ने उनपर रेप और यौन शोषण के आरोप लगाए थे और इस केस में प्रत्यर्पण से बचने के लिए असांजे ने इक्वाडोर दूतावास को अपना ठिकाना बना रखा था। हालांकि, बाद में स्वीडन ने असांजे पर से यौन अपराध से जुड़े मामले को हटा दिया था।

इसके बावजूद असांजे दूतावास में ही बने रहे क्योंकि जमानत खत्म होने पर लंदन में उनपर गिरफ्तारी की तलवार लटकी रही थी। बीते साल 12 दिसंबर से उन्हें इक्वाडोर की नागरिकता मिल गई थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, असांजे ने कोर्ट में कहा, ‘मैं उन लोगों से माफी मांगता हूं जिन्हें लगता है कि मैंने उनका अपमान किया। मैंने खुद को भयानक परिस्थितियों से घिरा पाया और वही किया जो मुझे लगा कि करना ठीक रहेगा। हालांकि, मैंने अपना केस रख दिया है।

2010 में टाइम मैगजीन की तरफ से ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ चुने गए असांजे ने बड़ी संख्या में अमेरिकी गोपनीय दस्तावेजों को सार्वजनिक कर चर्चित हुए थे। उनपर 2016 में अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव के दौरान भी हस्तक्षेप का आरोप भी लगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

fifteen − 3 =

Most Popular

To Top