हिमाचल प्रदेश

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने धर्मशाला में ‘जन आभार रैली’ को सम्बोधित किया

राज्य सरकार हिमाचल को नए शिखर पर ले जाने के लिए प्रतिबद्धः मुख्यमंत्री
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज पुलिस मैदान धर्मशाला में एक अभूतपूर्व और विशाल ‘जन आभार रैली’ को सम्बोधित कर वर्तमान राज्य सरकार के एक वर्ष के कार्यकाल पर आयोजित समारोह की गरिमा बढ़ाई। रैली में राज्य के कोने-कोने से हजारों की संख्या में लोगों ने भाग लिया और इसे एक ऐतिहासिक तथा मैगा समारोह बनाया।
प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर प्रदर्शनी का उद्घाटन भी किया और इसमें गहरी रूची दिखाई। उन्होंने विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों के साथ बातचीत और राज्य की एक वर्ष की उपलब्धियों पर सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग द्वारा तैयार की गई ‘कॉफी टेबल बुक’ जारी की। इस अवसर पर सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग द्वारा सरकार की उपलब्धियों पर तैयार किए गए एक वृत्तचित्र को भी प्रदर्शित किया गया।
इससे पूर्व, प्रधानमंत्री का उनके आगमन पर मुख्यमंत्री तथा अन्य वरिष्ठ नेताओं और राज्य सरकार के अधिकारियों ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया।
प्रधानमंत्री को मुख्यमंत्री ने शॉल, हिमाचली टोपी तथा स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।
इस अवसर पर लोगों को सम्बोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि जब भी वह हिमाचल प्रदेश का दौरा करते हैं, तो उन्हें हमेशा लगता है कि वह अपने घर आए हैं। इस तरह का सम्बन्ध उन्होंने राज्य के साथ साझा किया।
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने राज्य में प्रधानमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि हम अपने प्रिय प्रधानमंत्री की अनुग्रहपूर्ण उपस्थिति से धन्य और गौरवान्वित हुए हैं। उन्होंने कहा कि उनके परोपकार और समर्थन के कारण राज्य सरकार का यह एक वर्ष का कार्यकाल उपलब्धियों से भरा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य के हर क्षेत्र और समाज के हर वर्ग को राज्य सरकार की कल्याणकारी और विकासोन्मुख नीतियों और कार्यक्रमों से लाभ मिल रहा है।
मुख्यमंत्री ने समारोह को अपनी भव्य उपस्थिति से ऐतिहासिक बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का धन्यवाद करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने पार्टी के ‘स्वर्णिम हिमाचल दृष्टिपत्र’ को सरकार के नीति दस्तावेज के रूप में अपनाया है और पहले ही दिन से सरकार ने सुनिश्चित किया है कि विकास के लाभ सबसे निचले स्तर पर रहने वाले व्यक्ति तक पहुंचे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार का पहला ही निर्णय वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण पर लक्षित था, जिसमें पेंशन प्राप्त करने के लिए वरिष्ठ नागरिकों की आयु सीमा को 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष किया गया और वह भी बिना किसी आय सीमा के और इस निर्णय से राज्य के 1.30 लाख से अधिक वृद्धजन लाभान्वित हुए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य के लोगों की विकासात्मक आवश्यकताओं तथा अपेक्षाओं के बारे में जानकारी प्राप्त करने के उद्देश्य से उन्होंने एक वर्ष की इस छोटी सी अवधि के दौरान राज्य के कुल 68 विधानसभा क्षेत्रों में से 63 निर्वाचन क्षेत्रों का दौरा किया है।
जय राम ठाकुर ने कहा कि सरकार द्वारा शुरू किया गया जन मंच आम आदमी के लिए उनकी शिकायतों के तत्काल निवारण में वरदान साबित हुआ है। उन्होंने कहा कि राज्य के 65 निर्वाचन क्षेत्रों में 76 जन मंच आयोजित किए जा चुके हैं, जिनमें 20,062 शिकायतों का निपटारा किया गया है। उन्होंने कहा कि हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना के तहत लाभार्थियों को 32,134 नए एलपीजी कनेक्शन प्रदान किए गए हैं। इसके अतिरिक्त, इस अवधि के दौरान केन्द्र सरकार की उज्ज्वला योजना अन्तर्गत 85,421 एलपीजी कनेक्शन प्रदान किए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक घर में एलपीजी कनेक्शन की सुविधायुक्त हिमाचल प्रदेश देश का पहला राज्य बन जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार लोगों को उनके घरद्वार के समीप बेहतर स्वास्थ्य उपचार सुविधाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि सरकार सुनिश्चित कर रही है कि प्रत्येक व्यक्ति को बेहतर स्वास्थ्य देखभाल की  सुविधा उपलब्ध हो। उन्होंने कहा कि ‘हिम केयर’ योजना उन परिवारों के लिए आरम्भ की गई है, जो आयुष्मान भारत अथवा अन्य चिकित्सा प्रतिपूर्ति योजना में शामिल नहीं हैं। उन्होंने कहा कि योजना के तहत अस्पताल में भर्ती होने पर पांच लाख रुपये तक के निःशुल्क उपचार का प्रावधान किया गया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रकृति ने हिमाचल प्रदेश को अपार पर्यटन क्षमता से नवाजा है और राज्य सरकार इसके अधिक से अधिक दोहन के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश के अनछुए गंतव्यों को विकसित करने के लिए ‘नई राहें, नई मंजिलें’ योजना शुरू की है। उन्होंने राज्य के लिए 1900 करोड़ रुपये की एशियन विकास बैंक पर्यटन विकास परियोजनाएं स्वीकृत करने के लिए प्रधानमंत्री का धन्यवाद किया।
केन्द्र द्वारा राज्य के लिए प्रदान की गई उदार वित्तीय सहायता के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र ने एक वर्ष की इस छोटी सी अवधि के दौरान राज्य के लिए 9100 करोड़ से अधिक की परियोजनाएं स्वीकृत की हैं। उन्होंने कहा कि इससे राज्य में विकास की गति तेज हुई है।
मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को राज्य के लोगों के पूर्ण समर्थन का आश्वासन दिया और कहा कि प्रधानमंत्री का हिमाचल प्रदेश के लोगों के प्रति जो प्यार और स्नेह है, वह इसके लिए उनके ऋणी हैं।

 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

seven − one =

Most Popular

To Top