पंजाब

राज्य में भाईचारक सांझ में दरार डालने की किसी भी कोशिश को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा-कैप्टन अमरिन्दर सिंह

शहीदी जोड़ मेल के दूसरे दिन मुख्यमंत्री ने गुरुद्वारा श्री फ़तेहगढ़ साहिब हुए नतमस्तक

फ़तेहगढ़ साहिब – पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने चेतावनी देते हुए कहा कि राज्य में भाईचारक सांझ में दरारें डालने की कोशिशों को सफल नहीं होने दिया जायेगा और जो भी राज्य में धर्म निरपक्षता के माहौल को नुक्सान पहुंचाने की कोशिश करेगा, उसके साथ सख्ती से निपटा जायेगा।तीन दिवसीय शहीदी जोड़ मेल के दूसरे दिन यहाँ मीडिया के साथ अनौपचारिक बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सिख धर्म भाईचारक सांझ का संदेश देता है और किसी को भाईचारक सांझ का नुक्सान नहीं करने दिया जायेगा। दशमेश पिता श्री गुरू गोबिंद सिंह जी के छोटे साहिबज़ादे बाबा जोरावर सिंह, बाबा फतेह सिंह और माता गुजरी जी की अतुल्य शहादत को श्रद्धा और सत्कार भेंट करते हुए कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि जिस अमन -शान्ति के लिए छोटे साहिबज़ादे और माता गुजरी जी ने शहादत दी, उस अमन को हर हाल में कायम रखा जायेगा। हाल ही में दिवंगत प्रधान मंत्री राजीव गांधी की प्रतिमा को नुक्सान पहुंचाए जाने संबंधी पूछे गये एक सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने ऐसी घटनाओं के दोहराने संबंधी अकालियों को चेतावनी देते हुए कहा कि उनकी सरकार दूसरी पार्टियों के सीनियर नेताओं की प्रतिमाओं की रक्षा के लिए वचनबद्ध है। राज्य के विभिन्न हिस्सों में कई सीनियर अकाली नेताओं की प्रतिमाएं भी लगी हुईं हैं और हर हाल में ऐसी प्रतिमाओं की भी रक्षा की जायेगी।1984 के दंगों को आधार बना कर राजनैतिक लाभ लेने के लिए अकाली दल द्वारा धर्म के नाम पर विभाजन डालने की असफल कोशिशों और इन दंगों से गांधी परिवार का नाम जोड़े जाने संबंधी मुख्यमंत्री ने कहा कि जब हिंसक घटनाएँ घटनी शुरू हुई, तब तो राजीव गांधी वहां मौजूद ही नहीं थे। उन्होंने कहा कि दंगों के समय तो सुखबीर बादल अमरीका में पढ़ रहे थे और बिक्रम सिंह मजीठिया पटियाला या पंजाब में किसी जगह पढ़ रहे थे और उनको उस समय पर घटी घटनाओं संबंधी कुछ भी पता नहीं है। इसलिए उनको राजनैतिक लाभ लेने के लिए इन घटनाओं संबंधी धर्म के नाम का प्रयोग नहीं करना चाहिए। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि अकाली निचले स्तर की राजनीति करके भाईचारक सांझ का नुक्सान कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह किसी को भी नफऱत की राजनीति नहीं करने देंगे। गुरदासपुर में 03 जनवरी को प्रधानमंत्री की प्रस्तावित राजनैतिक रैली संबंधी पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि लोक सभा मतदान के मद्देनजऱ नरेंद्र मोदी ऐसी रैलियाँ कर रहे हैं परन्तु कांग्रेस लीडरशिप एक बार फिर अकाली -भाजपा गठजोड़ के मुकम्मल सफाए के लिए पूरी तरह तैयार है।ऐतिहासिक नगरी फ़तेहगढ़ साहिब के सर्वपक्षीय विकास के मसले पर बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने जल्द ही महान सिख जरनैल बाबा बन्दा सिंह बहादुर के नाम पर चौंक बनाने का ऐलान भी किया। उन्होंने कहा कि इस इलाके के विकास संबंधी जो भी ज़रूरतें हैं, वह सम्बन्धित विधायकों द्वारा उनके ध्यान में लाईं जाएँ जिससे जल्द से जल्द उन ज़रूरतों को पूरा किया जा सके।मुख्यमंत्री ने इससे पहले गुरुद्वारा श्री फ़तेहगढ़ साहिब में माथा टेकने और बाद में पंगत में बैठ कर लंगर भी खाया। उन्होंने इस मौके पर राजनैतिक कॉन्फ्ऱेंसों न किये जाने पर ख़ुशी ज़ाहिर करते हुए कहा कि शहीदी जोड़ मेल के दौरान राजनैतिक रैलियां अच्छी नहीं लगती हैं । उन्होंने कहा कि लाखों श्रद्धालु यहाँ दशम्् पातशाह गुरू गोबिन्द सिंह जी के शहीद हुए छोटे साहिबज़ादे और माता गुजरी जी, जिनकी शहादत को भुलाया नहीं जा सकता, को नमन करने आते हैं न कि राजनैतिक भाषण सुनने के लिए आते हैं। जि़क्रयोग्य है कि गुरुद्वारा श्री फ़तेहगढ़ साहिब सरहिन्द से 05 किलोमीटर उत्तर की तरफ सुशोभित वह स्थान है, जहां 26 दिसंबर 1705 को छोटे साहिबज़ादे बाबा जोरावर सिंह और बाबा फतेह सिंह को जि़ंदा नींवों में चिनवा दिया गया था। साहिबज़ादे और माता गुजरी जी की शहादत की याद में पुरातन समय से फ़तेहगढ़ साहिब में शहीदी जोड़ मेल होता आ रहा है।इस मौके विधान सभा के स्पीकर राणा के.पी. सिंह, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल, सलाहकार मुख्यमंत्री पंजाब भरत इन्द्र सिंह चाहल, हलका फ़तेहगढ़ के विधायक कुलजीत सिंह नागरा, विधायक बसी पठाना गुरप्रीत सिंह जी.पी., विधायक पायल लखबीर सिंह लक्खा, मुख्यमंत्री के विशेष प्रमुख सचिव गुरकिरत कृपाल सिंह, आई.जी. रूपनगर रेंज वी.नीरजा, डिप्टी कमिशनर फ़तेहगढ़ साहिब शिवदुलार सिंह ढिल्लों और जि़ला पुलिस प्रमुख श्रीमती अलका मीना, पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव बलविन्दर मावी, जि़ला कांग्रेस कमेटी के प्रधान हरिन्दर सिंह भांबरी और जसपाल सिंह ज़ीरकपुर उपस्थित थे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

15 − fourteen =

Most Popular

To Top