पंजाब

राणा केपी सिंह के विदेश मंत्री को लिखे पत्र ने दो ‘आप’ विधायकों के लिए खोले कैनेडा के द्वार

विदेश मंत्री ने स्पीकर को पत्र लिखकर दी जानकारी
चण्डीगढ़ – पंजाब विधान सभा के दो सदस्यों स. कुलतार सिंह संधवां और स. अमरजीत सिंह सन्दोआ, जिनको कैनेडियन अधिकारियों ने इस साल 21 जुलाई को ओट्वा हवाई अड्डे पर कैनेडा में दाखि़ल होने की आज्ञा नहीं दी थी, के लिए कैनेडा के दरवाज़े फिर से खुल गए हैं। यह जानकारी भारतीय विदेश मंत्री सुष्मा स्वराज द्वारा पंजाब विधान सभा के स्पीकर राणा केपी सिंह को लिखे पत्र में से मिली है। बताने योग्य है कि पंजाब से आम आदमी पार्टी के इन विधायकों के साथ कथित बुरे व्यवहार पर चिंता ज़ाहिर करते हुए स्पीकर राणा केपी सिंह ने 25 जुलाई को विदेश मंत्री सुष्मा स्वराज को पत्र लिखकर इस मामले में कार्यवाही की माँगी की थी। स्पीकर को भेजे पत्र में विदेश मंत्री ने लिखा कि ओट्वा में भारतीय हाई कमीशन द्वारा इस मामले को कैनेडा सरकार के समक्ष ज़ोरदार ढंग से उठाया गया है और कैनेडियन आप्रवासन अधिकारियों के इस व्यवहार के कारणों और हालात बारे जानकारी माँगी गई थी। उन्होंने आगे लिखा, ‘मुझे जानकारी दी गई है कि कैनेडियन बार्डर सर्विसिज एजेंसी ने हमारे ओट्वा के मिशन को बताया है कि गोपनीयता सम्बन्धी कानून के कारण वह इस मामले में और अधिक जानकारी नहीं दे सकते। हालाँकि, उन्होंने यह भी कहा है कि स. कुलतार सिंह और स. अमरजीत सिंह भविष्य में कैनेडा, यदि वह जाना चाहते हों, जाने के योग्य हैं। ‘उन्होंने कहा, ‘हम कैनेडा सरकार के साथ ऐसे मामलों पर विचार कर रहे हैं जिससे भविष्य में फिर ऐसा न हो। आपको भी मैं विनती कर रही हूँ कि भविष्य में विधायकों द्वारा विदेश दौरे के समय भारत सरकार के विदेश दौरों बारे दिशा-निर्देशों के पालन के अलावा कैनेडा में हमारे मिशन को इस बारे अग्रिम जानकारी देना यकीनी बनाया जाये।’ इस मामले में सकारात्मक सोच और हार्दिक प्रयासों के लिए विदेश मंत्री का धन्यवाद करते हुए स्पीकर राणा केपी सिंह ने सभी विधायकों को विदेश जाने के समय विदेश मंत्रालय से राजसी मंज़ूरी हासिल करने और विदेश में भारतीय मिशन को अग्रिम जानकारी देने के अलावा निर्धारित प्रक्रिया का पालन करने की सलाह दी है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

thirteen + ten =

Most Popular

To Top