क्रिकेट

पांचवां टेस्ट: भारतीय टीम की प्रतिष्ठा की लड़ाई

भारत और इंग्लैड के बीच सीरीज़ का पांचवां और आखिरी टेस्ट आज से शुरु है, सीरीज़ गंवा चुकी भारतीय टीम के लिए प्रतिष्ठा की लड़ाई, वहीं इंग्लैंड कुक को जीत के साथ देना विदाई चाहेगा । भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही टेस्ट सीरीज़ का पांचवा और आखिरी टेस्ट आज से ओवल में खेला जाएगा। सीरीज़ गंवा चुकी भारतीय टीम के लिए ये टेस्ट प्रतिष्ठा बचाने की लड़ाई है। सीरीज में 1-3 से पीछे चल रही भारतीय टीम मुकाबले को जीतकर सीरीज का अंत करना चाहेगी। दूसरी तरफ इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज एलिस्टेयर कुक का यह विदाई टेस्ट है। ऐसे में मेज़बान टीम मौजूदा दौर के अपने इस सबसे बड़े खिलाड़ी को जीत के साथ विदाई देना चाहेगी। भारत और इंग्लैंड के बीच 5 टेस्ट मैचो की सीरीज का अंतिम मुकाबला शुक्रवार से केनिंगटन ओवल में खेला जाएगा। सीरीज में 1-3 से पीछे चल रही भारतीय टीम की कोशिश इस मुकाबले को अपने नाम करके जीत के साथ इंग्लिश दौरे का अंत करने की होगी। टीम इंडिया भले ही सीरीज में पीछे चल रही हो लेकिन टीम ने कई मौके पर इंग्लैंड को बैकफुट में रखने में सफलता पाई है। कोहली एंड कंपनी के लिए सबसे बड़ी समस्या टीम की बल्लेबाजी को माना जा रहा है। सलामी बल्लेबाज पूरी सीरीज में अब तक टीम को अच्छी शुरुआत देने में नाकाम रहे है। ऐसे में कोहली शिखर धवन और लोकेश राहुल में किसी एक को बैठाकर युवा पृथ्वी शॉ को अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत करने का मौका दे सकते है। वही पुजारा ने चौथे टेस्ट में विषम परिस्थितियो में शतकीय पारी खेल कर फार्म में वापसी के संकेत दे दिए है। कप्तान विराट कोहली ने अपनी बैटिंग से सबको प्रभावित किया है और वह चार टेस्ट मैचों में अब तक दो शतकों और तीन अर्धशतकों की मदद से 544 रन बनाकर दोनों टीमों की तरफ से सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे हैं। वहीं एक -दो पारी को छोड़ दे तो अजिंक्या रहाणे का बल्ला अधिकतर समय खामोश ही रहा है।

ऑलराउंडर के रूप में खेल रहे हार्दिक पांड्या का बल्ले से भी रन नही निकले है। ऐसे में उनकी जगह किसी अन्य खिलाड़ी को मौका दिया जा सकता है। पिछले मैच में फ्लॉप रहे ऋषभ पंत की जगह दिनेश कार्तिक की वापसी हो सकती है। दूसरी तरफ भारतीय गेंदबाजो ने पूरी सीरीज में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। बुमराह, शमी और ईशांत शर्मा की तिकड़ी इंग्लिश बल्लेबाजो पर दबाव बनाने में पूरी तरह से कामयाब रही है। स्पिन विभाग में अश्विन के खेलने को लेकर संशय बना हुआ है। अगर वो नही खेलते है तो इस रविन्द्र जडेजा को पहली बार सीरीज में मौका मिल सकता है। सीरीज पहले ही अपने नाम कर चुकी इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एलिस्टेयर कुक का यह विदाई टेस्ट है। ऐसे में मेजबान टीम मौजूदा दौर के अपने इस सबसे बड़े खिलाड़ी को जीत के साथ विदाई देना चाहेगी। बल्लेबाजी में कप्तान जो रूट, जोश बटलर और बेयरस्टोव भारतीय गेंदबाजो के लिए खतरनाक हो सकते है। इंग्लैंड जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ड ब्रॉड में से एक को आराम दे सकता है. क्रिस वोक्स दोबारा फिट हो गए हैं और चयन के लिए उपलब्ध हैं। भारतीय टीम के लिए एक अच्छी खबर यह है कि हाल ही में इंग्लैंड का रिकॉर्ड ओवल में अच्छा नहीं रहा है। उसने पिछले तीन मैचों में से दो मैच हारे हैं जबकि एक मैच उसने ओवल में जीता है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

18 − eighteen =

Most Popular

To Top