कांगड़ा

मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना से स्थानीय उद्यम को मिलेगा बढ़ावा: किशन कपूर

कहा………स्वच्छ, पारदर्शी, जवाबदेह तथा भ्रष्टाचारमुक्त शासन उपलब्ध करवाना मेरी प्राथमिकता

धर्मशाला,- खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री किशन कपूर ने कहा कि प्रदेश सरकार स्थानीय उद्यम को बढ़ावा देने और युवाओं को स्वरोजगार के साधन उपलब्ध करवाने के लिए मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना शुरू की है। सरकार ने इसके लिए 80 करोड़ रुपए का बजट प्रावधान किया है। योजना के तहत प्रदेश के 18 से 35 वर्ष आयुवर्ग के युवाओं को उद्योगों में 40 लाख रुपये तक के निवेश पर संयंत्र एवं मशीनरी खरीद पर 25 प्रतिशत उपदान दिया जाएगा। वहीं महिलाओं एवं युवतियों को प्रोत्साहित करने के लिए निवेश पर 30 प्रतिशत उपदान दिया जाएगा। किशन कपूर ने आज धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र के मंदल में जनसभा को सम्बोधित करते हुए यह जानकारी दी।
खाद्य आपूर्ति मंत्री ने कहा कि इसके अलावा योजना के तहत 40 लाख रुपये के ऋण पर 3 वर्ष के लिए 5 प्रतिशत उपदान दिया जाएगा। कोई युवा यदि निजी भूमि खरीद कर उद्यम लगाना चाहे तो स्टॉम्प ड्यूटी वर्तमान 6 प्रतिशत के बजाय 3 प्रतिशत की दर से देय होगी।
उन्होंने कहा कि केंद्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए कई योजनाएं चलाई गई हैं। इन योजनाओं को लाभ अधिक से अधिक व्यक्तियों तक पहुंचाने के लिए सभी को जागरूक किया जाएगा। बाजार की मांग के अनुरूप कुशल श्रमशक्ति उपलब्ध करवाने के लिए प्रशिक्षण पर बल दिया गया है ताकि रोजगार प्राप्त करने अथवा स्वरोजगार लगाने के लिए युवा आगे आएं।
घोषणाएं
किशन कपूर ने मंदल में महिला मंडल भवन की छत के निर्माण के लिए 2 लाख रुपए तथा मंदल में शमशान घाट के शैड के निर्माण के लिए 2 लाख रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने कहा की शीघ्र ही मंदल में सोलर लाईट लगाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र के लोगों के विश्वास पर खरा उतरते हुए वे उनकी आंकाक्षाओं तथा आशाओं के अनुरूप धर्मशाला को विकास का आदर्श बनाएंगे। उन्होंने कहा कि धर्मशाला का योजनाबद्ध तरीके से समग्र एवं स्थायी विकास उनकी प्रतिबद्धता है।
कहा….स्वच्छ, पारदर्शी, जवाबदेह तथा भ्रष्टाचारमुक्त शासन उपलब्ध करवाना मेरी प्राथमिकता
किशन कपूर ने कहा कि प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के साथ ही विकास का एक नया युग आरम्भ हुआ है। जनता की आशाओं व आकांक्षाओं के अनुरूप विकासोन्मुखी, स्वच्छ, पारदर्शी, जवाबदेह तथा भ्रष्टाचारमुक्त शासन उपलब्ध करवाना उनकी प्राथमिकता है।
सैनिकों के कल्याण के लिए चलाई गई हैं अनेक योजनाएं
कपूर ने कहा कि स्वतंत्रता सेनानियों, भूतपूर्व सैनिकों तथा सेवारत सैनिकों द्वारा राष्ट्र को दी गई सेवाओं के लिए समस्त प्रदेशवासी उनके कृतज्ञ हैं। प्रदेश के स्वतंत्रता सेनानी, भूवपूर्व सैनिक तथा उनके परिजन सम्मानपूर्वक जीवनयापन कर सकें, इसके लिए प्रदेेश सरकार द्वारा अनेेक योजनाएं चलाई गई हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार शहीदों के आश्रितों को करूणामूलक आधार पर रोजगार प्रदान कर रही है। उन्होंने कहा कि अब यह लाभ अर्ध सैनिक बलों में हिमाचली शहीदों के आश्रितों को भी दिया जाएगा।
प्रदेश सरकार गांवों को सड़कों से जोड़ने के लिए उठा रही कारगर कदम
किशन कपूर ने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश में सड़क नेटवर्क के विस्तार तथा अधिक से अधिक गांवों को सड़कों से जोड़ने के लिए कारगर कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि जल निकास के अभाव में सड़कों की स्थिति खराब हो जाती है। प्रदेश सरकार ‘‘हिमाचल सड़क सुधार योजना’’ शुरू करने जा रही है जिसके अन्तर्गत वर्तमान सड़कों के क्रॉस जल निकासी की कमी को दूर किया जाएगा। वर्तमान वित्त वर्ष में इस योजना के लिए 40 करोड़ रुपये बजट का प्रावधान किया गया है।
किशन कपूर ने प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना’ को क्रान्तिकारी पहल बताते हुए कहा कि ये योजना गृहिणियों के जीवन को आसान एवं धुआंमुक्त बनाने में सार्थक सिद्ध हुई है
कपूर ने कहा कि केन्द्र सरकार के प्रयासों में सहयोग के रूप में प्रदेश सरकार ने भी महिला सशक्तिकरण एवं पर्यावरण संरक्षण के उद्देश्य से हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना आरंभ की है। इस योजना से प्रदेश के 1 लाख परिवार लाभान्वित होंगे। इन परिवारों की गृहिणियों को रसोई गैस सिलेंडरों की जमा राशि और गैस चूल्हे के लिए आर्थिक मदद दी जाएगी। इसके लिए सरकार हर गैस कनेक्शन पर 3500 रुपए का खर्च वहन करेगी। कपूर ने कहा कि सरकार समाज के कमज़ोर व उपेक्षित वर्गों के कल्याण के प्रति वचनबद्ध है। सामाजिक सुरक्षा पेंशन की आयुसीमा को 80 वर्ष से घटा कर 70 वर्ष किया गया है।
कपूर ने कहा कि प्रदेश सरकार ने आम लोगों के कल्याणार्थ कई नई योजनाएं शुरू की हैं। उन्होंने कहा कि वर्तमान वित्त वर्ष में मुख्यमंत्री युवा आजीविका योजना, नई राहंे-नई मंजिलें, मुख्यमंत्री आदर्श विद्या केन्द्र, सौर सिंचाई योजना, जल से कृषि को बल, हिमाचल पुष्प क्रान्ति योजना, मुख्यमंत्री मधु विकास योजना, स्वास्थ्य में सहभागिता योजना, मुख्यमंत्री चिकित्सा सहायता कोष, मुख्यमंत्री लोक भवन तथा प्राकृतिक खेती-खुशहाल किसान जैसी अनेकों योजनाएं शुरू करने जा रही है। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि वे सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों से इन योजनाओं की पूरी जानकारी लें तथा इनका लाभ उठाएं।
इस दौरान ग्राम पंचायत मंदल के युवा मोर्चा अध्यक्ष राकेश कुमार नेे मुख्यातिथि का स्वागत किया।
कपूर ने सुनीं जनसमस्याएं
इसके उपरांत खाद्य आपूर्ति मंत्री ने मंदल में लोगों की समस्याओं को सुना। अधिकतर समस्याएं पानी, बिजली तथा सड़कों से सम्बन्धित थी। उन्होंने अधिकतर समस्याओं का मौके पर ही समाधान कर दिया तथा शेष समस्याओं के समाधान के लिए सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये। उन्होंने अधिकारियों को प्राथमिकता के आधार पर लोगों की समस्याओं का निपटारा करने को कहा।
इस अवसर पर मंडल अध्यक्ष कैप्टन रमेश अटवाल, पार्षद वीरू बालिया, पार्षद राजिन्द्र कुमार, एसडीएम धर्मेश रमोत्रा, अधिशाषी अभियंता विद्युत आर.के.खरवाल, अधिशाषी अभियंता आईपीएच विकास बख्शी, भू-संरक्षण अधिकारी राहुल कटोच, बीडीओ अभिनीत, तहसील कल्याण अधिकारी रमेश, जिला खाद्य एवं आपूर्ति नियत्रंक नरेन्द्र धिमान, ऐरिया मैनेजर खेम चन्द, मंडल उपाध्यक्ष प्रदीप कुमार, कैप्टन पुरूषोतम, मीडिया प्रभारी शमशेर नेहरिया, वरवाला की प्रधान सुनीता देवी, झियोल की प्रधान वीना देवी, जिला परिषद् सदस्य अनिल, सुभाष चडलू, एसडीओ लोक निर्माण विभाग विनय मेहरा, एसडीओ आईपीएच विपिन कुमार, चन्द्र, प्रदीप सेठी, सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा बड़ी संख्या में स्थानीय लोग मौजूद थे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

7 + nineteen =

Most Popular

To Top