ऊना

निर्माणाधीन भदसाली उपसब्जी मंंडी के बेहतर सदुपयोग को उठाए जाएंगे पग-बलवीर बग्गा

कृषि उपज मंडी समिति ऊना की बैठक आयोजित, उपायुक्त भी रहे विशेष तौर पर उपस्थित
ऊना, कृषि उपज मंडी समिति ऊना के अध्यक्ष बलवीर बग्गा ने कहा कि जिला के भदसाली में निर्माणाधीन उप सब्जी मंडी के बेहतर सदुपयोग को लेकर मंडी समिति द्वारा हर संभव कदम उठाए जाएंगे। उन्होने कहा कि इस मंडी के निर्माण को लेकर एपीएमसी ऊना की भारी भरकम राशि व्यय की जा चुकी है तथा मंडी के संचालन को लेकर रास्ते का निर्माण सहित अन्य कई मूलभूत अधोसंरचना की कमी के कारण एपीएमसी को मुश्किलों का सामना करना पड रहा है। उन्होने कहा कि मंडी समिति के सभी सदस्यों के सहयोग से भदसाली सब्जी मंडी को जाने वाले रास्ते की समस्या को लेकर स्थानीय लोगों से बातचीत की जाएगी। उन्होने कहा कि रास्ते का हल न निकलने पर इसके इस्तेमाल को लेकर अन्य विकल्पों पर भी विचार किया जाएगा ताकि इस सब्जी मंडी के परिसर का सदुपयोग किया जा सके। बलवीर बग्गा आज डीआरडीए सभागार में कृषि उपज मंडी समिति ऊना की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।
उन्होने कहा कि सब्जी मंडी ऊना का अत्याधुनिक नया परिसर स्थापित हो इस बारे संबंधित विभागीय अधिकारियों को उचित जमीन तलाशने के लिए उपायुक्त के माध्यम से निर्देश जारी कर दिए गए हैं। उन्होने कहा कि किसानों की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए सब्जी मंडी के प्लेटफॉर्म को बडा किया जाएगा ताकि ट्रेडर के साथ-साथ किसानों को असुविधाओं का सामना न करना पडे। उन्होने कहा कि जिला के किसानों को सुविधाएं व लाभ मिले इस बारे एपीएमसी ऊना गंभीरता पूर्वक कार्य करेगी।
बलवीर बग्गा ने कहा कि जिला में डेयरी फॉर्मिंग के प्रति किसानों को जोडने के लिए पशु पालन विभाग के माध्यम से जिला के सभी 17 जिला परिषद् वार्डों में जागरूकता शिविर आयोजित किए जाएंगे तथा जिला में दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए विभागीय अधिकारियों के सहयोग से हरसंभव कदम उठाए जाएंगे। उन्होने कहा कि देसी गौपालन तथा जीरो बजट प्राकृतिक खेती को लेकर भी किसानों को जागरूक किया जाएगा। उन्होने कहा कि जिला में देसी गाय एवं बकरियों के दूध के लिए अलग कांउटर स्थापित करने की संभावनाओं पर भी कार्य किया जाएगा। उन्होने बागवानी विभाग के अधिकारियों से जिला में आम, नींबू, आंवला इत्यादि के बागीचे तैयार करने के लिए पंचायतों के माध्यम से भी कार्य करने का आहवान किया। उन्होने कहा कि जिला के प्रत्येक ब्लॉक की कम से कम एक पंचायत में ऐसा प्रयास हो इस दिशा में विभागीय अधिकारियों से कार्य करने का आहवान किया। इसके अलावा किसानों के लिए पॉलीहाउस सहित अन्य योजनाओं पर भी व्यापक जन जागरूकता लाने के लिए ग्रामीण स्तर पर शिविर आयोजित करने पर बल दिया।
उन्होने जिला में फलों व सब्जियों के उत्पादन के लिए इस्तेमाल किए जा रहे कीटनाशकों पर भी चिंता प्रकट की तथा संबधित विभागीय अधिकारियों से जहां बिक्री केंद्रों की समय-समय पर जांच करने को कहा तो वहीं अत्यधिक मात्रा में कीटनाशकों के छिडकाव को रोकने के लिए किसानों को जागरूक करने पर बल दिया। बैठक में मंडी समिति के आय व्यय का भी अनुमोदन किया गया। इसके अलावा अन्य मदों पर भी विस्तृत चर्चा की गई। बैठक को संबोधित करते हुए उपायुक्त राकेश कुमार प्रजापति ने कहा कि मंडी समिति के विकास के लिए उनकी ओर से हरसंभव मदद दी जाएगी ताकि किसानों के हित में बेहतर निर्णय लिए जा सकें। बैठक में उपायुक्त राकेश कुमार प्रजापति के अतिरिक्त उपनिदेशक कृषि सुरेश कपूर, उपनिदेशक बागवानी सुधीर कुमार शर्मा, सहायक निदेशक पशु पालन सुरेश धीमान, वैज्ञानिक केवीके डॉ0 संजय शर्मा, मंडी समिति के सदस्य सचिव सर्वजीत डोगरा, सदस्य विनोद ठाकुर, कुलदीप सिंह, सरजीवन सिंह,अमृत लाल भारद्वाज, शंभू गोस्वामी, सुखदेव सिंह, सतीश कुमार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

fifteen − 6 =

Most Popular

To Top