भारत

संविधान दिवस के मौके पर देशभर में कार्यक्रमों का आयोजन

दिल्ली से लेकर तमाम राज्यों तक संविधान दिवस के मौके पर विशेष कार्यक्रमों का आयोजन किया गया, यहां तक कि देशभर के कई स्कूलों में बच्चों ने भी प्रस्तावना का पाठ किया। इसके साथ ही कई सुरक्षा बलों और देश के बाहर उच्चायुक्तों और दूतावासों में भी संविधान दिवस को लेकर कार्यक्रम हुए।देश में हर साल 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में मनाया जाता है। संविधान सभा ने 26 नवंबर 1949 को संविधान को अपनाया था जबकि संविधान के प्रावधान 26 जनवरी 1950 को पूरी तरह से प्रभावी हुए थे। भारतीय संविधान को अंगीकार करने की इस साल 70वीं सालगिरह है। इस मौके पर देश भर में कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। न केवल देश के अलग-अलग राज्यों और क्षेत्रों में बल्कि विदेशों में भी संविधान दिवस के अवसर पर विशेष कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है।उत्तर प्रदेश में संविधान दिवस के मौके पर विधानसभा के विशेष संयुक्त सत्र का आयोजन किया गया। इस मौके पर राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल आनंदी बेन सहित कई दलों के नेता भी मौजूद रहे।संविधान दिवस के मौके पर जम्मू और कश्मीर के उपराज्यपाल जी सी मुर्मु जम्मू सचिवालय में आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए। संविधान दिवस के मौके पर ओडिशा की विधानसभा में भी विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक सहित कई नेता मौजूद थे। गोवा के राज्यपाल सत्यपाल मलिक पणजी में आयोजित संविधान दिवस कार्यक्रम में शामिल हुए।आन्ध्रप्रदेश में भी संविधान दिवस के मौके पर कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। आन्ध्र प्रदश के राज्यपाल विश्वभूषण हरिचन्दन ने विजयवाडा में संविधान दिवस कार्यक्रम में शिरकत की। वहीं चित्तूर जिले के चांदगिरी फोर्ट में संविधान दिवस कार्यक्रम हुआ। दिल्ली में केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सुप्रीम कोर्ट में आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया।संविधान दिवस के उपलक्ष में जयपुर में रेलवे कर्मचारियों ने संविधान दिवस मनाया और देश की एकता और अखंडता बनाए रखने की शपथ ली।वहीं संविधान दिवस पर राजस्थान के उदयपुर में नागरिकों ने शपथ ली। चूरु में भी स्थानीय लोगों ने संविधान की शपथ ली। जोधपुर के जय नारायण व्यास विश्व विद्यालय के कमला नेहरू महिला महाविद्यालय में संविधान समारोह का आयोजन किया गयामध्यप्रदेश के टीकमगढ़ के प्रार्थना भवन में नागरिकों ने संविधान दिवस के मौके पर कार्यक्रम का आयोजन किया। हेरिटेज होटल का दर्जा प्राप्त ग्वालियर के देव बाग होटल में संविधान दिवस के मौके पर होटल के समस्त स्टाफ नें देश की एकता और अखंडता के लिए शपथ ली। इस मौके पर संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर को याद किया गया।पश्चिम बंगाल के कोलकाता में संविधान दिवस के मौके पर लोगों ने संविधान के प्रति आस्था प्रकट करते हुए कार्यक्रम का आयोजन किया गया। वहीं कूच बिहार पैलेस और म्यूज़ियम में भी संविधान दिवस पर कार्यक्रम किया गया। संविधान दिवस के मौके पर मेघालय की राजधानी शिलांग में भी कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्रसिद्ध पत्रकार और पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित पेट्रीसिया मुखीम ने कहा कि मौलिक कर्तव्य समान रूप से महत्वपूर्ण है और लोगों को इस पर भी ध्यान देना चाहिए।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

twelve + five =

Most Popular

To Top