भारत

मनप्रीत बादल द्वारा इन्फोसिस के सह-संस्थापक नन्दन नीलकानी और वोलवो के प्रधान कमल बाली के साथ मुलाकात

इनवैस्ट पंजाब के प्रतिनिधिमंडल द्वारा राज्य में निवेश का न्योता देते हुये हर संभव सहयोग का दिया भरोसा
बेंगलुरू – वित्त मंत्री श्री मनप्रीत सिंह बादल और पी.डब्ल्यू.डी. और शिक्षा मंत्री श्री विजय इंदर सिंगला के नेतृत्व अधीन इनवैस्ट पंजाब के प्रतिनिधिमंडल द्वारा शुक्ररवार को यहां इन्फोसिस के सह-संस्थापक और नॉन-एग्जिक्युटिव चेयरमैन श्री नन्दन नीलकानी और वोलवो ग्रुप के प्रधान और एम.डी. श्री कमल बाली के साथ मीटिंग की और उनको पंजाब में निवेश करने का न्योता दिया ।श्री नीलकानी के साथ मीटिंग के दौरान प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि इन्फोसिस जैसी बहुराष्ट्रीय कंपनी को पंजाब में बड़ा प्रोजैक्ट लेकर आना चाहिए क्योंकि राज्य में व्यापार और निवेश की अथाह संभावनाएं हैं। आई.टी. सिटी के तौर पर जाने जाते मोहाली (एसएएस नगर) शहर में मौजूद सूचना प्रौद्यौगिकी ढांचे के कारण श्री नीलकानी द्वारा इन्फोसिस का स्टार्ट-अप इकोसिस्टम विकसित करने में रुचि दिखाई। इस दौरान मोहाली में सूचना प्रौद्यौगिकी सेवाओं का ढांचा विकसित करने संबंधी भी चर्चा की गई ।इसके बाद प्रतिनिधिमंडल द्वारा लग्जरी वाहन बनाने वाले संसार के प्रसिद्ध वोलवो ग्रुप के प्रधान और एम.डी. श्री कमल बाली के साथ बैठक की गई। इस मीटिंग के दौरान पंजाब में वोलवो डिज़ाइन सैंटर और वाहनों के लिए सर्विस सैंटर खोलने संबंधी विचार-विमर्श किया गया। इसके अलावा ड्राईवरों के लिए कौशल विकास केंद्र खोलने संबंधी भी चर्चा की गई जिससे उनको अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नौकरी हासिल करने के योग्य बनाया जा सके ।वित्त मंत्री मनप्रीत बादल ने वोलवो ग्रुप के प्रधान को बताया कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के गतिशील नेतृत्व वाली सरकार की उद्योग समर्थकी नीतियों की वजह से पंजाब में व्यापार और निवेश के लिए बेहद सकारात्मक माहौल है। इसके अलावा सरकार द्वारा मौजूदा और नये उद्योगों को कई तरह की रियायतें भी दी जा रही हैं। उन्होंने बताया कि सरकार की निवेशक समर्थकी औद्योगिक और व्यापारिक नीतियों के कारण पंजाब औद्योगिक विकास की शिखर की तरफ तेज़ी से बढ़ रहा है, जिसका सबूत मौजूदा सरकार के मार्च 2017 में सत्ता संभालने के बाद राज्य में 50 हज़ार करोड़ रुपए से अधिक का निवेश हुआ है। उन्होंने राज्य में निवेश करने वालों को हर संभव सहयोग का भरोसा दिया ।वित्त मंत्री ने बताया कि इनवैस्ट पंजाब द्वारा एक ही छत के नीचे कई तरह की रेगुलेटरी प्रवानगियां और अन्य सेवाएं मुहैया करवाई जा रही हैं। उन्होंने आगे बताया कि ‘इनवैस्ट पंजाब-बिजऩैस फस्ट पोर्टल’ एक मील पत्थर साबित हुआ है, जहाँ 16 विभागों /एजेंसियाँे से सम्बन्धित 46 तरह की रेगुलेटरी प्रवानगियों सम्बन्धी सेवाएं मुहैया करवाई जा रही हैं। इसके अलावा लघु, मध्यम और बड़े उद्योगों को कई तरह की रियायतें भी दी जा रही हैं। श्री बादल ने बताया कि पंजाब तेज़ी के साथ देश भर में निवेश के लिए सबसे पसन्दीदा स्थान के तौर पर उभर रहा है और कई अंतरराष्ट्रीय स्तर के औद्योगिक ग्रुपों और बहुराष्ट्रीय कंपनियों द्वारा राज्य में निवेश करने की रुचि दिखाई गई है ।पी.डब्ल्यू.डी. और शिक्षा मंत्री श्री सिंगला ने बताया कि पंजाब सरकार की नयी औद्योगिक नीति ने राज्य को विकास के यात्रा पर डाला है और पंजाब बहुत जल्द देश के औद्योगिक नक्शे पर अग्रणी राज्य के तौर पर उभरेगा ।इनवेस्टमैंट प्रमोशन, उद्योग और वाणिज्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव विनी महाजन ने पंजाब में औद्योगिक निवेश करने वालों को पूर्ण सहयोग और मदद का भरोसा दिया। इस मौके पर उपस्थित प्रमुख सख्शियतों में इनवैस्ट पंजाब के सी.ई.ओ. श्री रजत अग्रवाल और मुख्यमंत्री के विशेश प्रमुख सचिव श्री गुरकिरत कृपाल सिंह भी शामिल थे ।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

seven − five =

Most Popular

To Top