जीवन शैली

स्वास्थ्य मंत्री ने बाढ़ प्रभावित इलाकों के लिए स्पैशलिस्ट डॉक्टरों समेत 3 मैडीकल राहत वैनों को रवाना किया

चंडीगढ़ – आज स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री पंजाब स. बलबीर सिंह सिद्धू ने मोहाली के सिविल अस्पताल से बाढ़ प्रभावित इलाकों के लिए 3 मैडीकल राहत वैनों को रवाना किया। इन वैनों में मैडीकल स्पैशलिस्ट, चमड़ी रोगों के माहिर और गायनी के मैडीकल अधिकारियों के अलावा पैरा-मैडीकल स्टाफ की टीमें भी भेजी गई हैं।स. बलबीर सिंह सिद्धू ने बताया कि यह मैडीकल राहत वैनें रोपड़, जालंधर और कपूरथला के बाढ़ प्रभावित गाँवों में पीडि़त मरीज़ों को मानक स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया करवाना यकीनी बनाऐंगी जिसके लिए वैनों के साथ सपैशलिस्ट डॉक्टरों को भी तैनात किया गया है। उन्होंने बताया कि मैडीकल कैंपों में मिलने वाली दवाओं के अलावा हर वैन में 5000 व्यक्तियों और लगभग 2000 बच्चों को इलाज सुविधाएं देने के लिए विभिन्न दवाएँ हैं और पानी की बीमारियों को रोकने के लिए 2 लाख क्लोरीन की गोलियाँ भी भेजी गई हैं।स्वास्थ्य मंत्री ने आगे मैडीकल कैंपों की जानकारी देते हुए बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा 18 अगस्त से लेकर 28 अगस्त तक 8 जि़लों में लगवाए मैडीकल कैंपों में लगभग 17,000 मरीजों की जांच की जा चुकी है और इन मरीजों में पाए गए बुख़ार, दस्त, उल्टी, चमड़ी और अन्य रोगों सम्बन्धी इलाज किया जा रहा है। इसके अलावा साँपों के डंक, कुत्तों के काटने और अन्य जानवरों के काटने पर बचाव के लिए वैक्सीन भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा मुहैया करवाई जा रही है।स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि बाढ़ों के कारण मच्छरों से होने वाली बीमारियों को पुख्ता ढंग से निपटने के लिए 74 वैकटर बोर्न टीमों का गठन किया गया है जो ठहरे पानी वाले स्थानों पर लारवीसाईड और कीटनाशक दवाओं का छिडक़ाव कर रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीमें शहरों और गाँवों में स्थानीय निकाय और ग्रामीण विकास विभाग के साथ मिलकर संयुक्त रूप में काम कर रही हैं। इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी प्रभावित जि़लों में बरसाती पानी/बाढ़ों के खड़े पानी में से पीने के पानी के तुरंत सैंपल लेने के लिए हिदायत भी जारी की गई है।उन्होंने बताया कि जालंधर और कपूरथला के ज़्यादा प्रभावित इलाकों को कवर करने के लिए पहले ही प्रति गाँव क्रमवार 20 और 21 मैडीकल मोबायल टीमें तैनात की गई हैं और सिविल सर्जनों को मैडीकल कैंपों के काम-काज पर निजी तौर पर नजऱ रखने के निर्देश दिए गए हैं।स. बलबीर सिंह सिद्धू ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा पहले ही लगभग 60 लाख क्लोरीन की गोलीयां खरीदी गई थी और अब बाढ़ों की स्थिति को देखते हुए 17 लाख और क्लोरीन की गोलियों की खरीद की गई है। दूषित पानी से होने वाली बीमारियों से बचने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा बाढ़ प्रभावित इलाकों में ऐंबूलैंसों का प्रबंध किया गया है जिससे गंभीर मरीजों को सरकारी अस्पतालों में ले जा कर इलाज किया जा सके।उन्होंने लोगों से अपील की कि बाढ़ों में नुकसाने गए क्षेत्रों में किसी भी तरह की स्वास्थ्य सुविधा लेने के लिए टोल फ्री नंबर 104 पर संपर्क कर सकते हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

4 × one =

Most Popular

To Top