भारत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके नए मंत्रिमंडल ने ली शपथ

नरेंद्र मोदी देश की दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ली। राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा अन्य 57 सदस्यो को मंत्रिमंडल की पद और गोपणीयता की शपथ दिलाई। प्रधानमंत्री के नये मंत्रिमंडल में कई ऐसे चेहरे हैं जो पिछले मंत्रिमंडल में भी रह चुके हैं। मोदी सरकार की पिछली मंत्रिमंडल में लखनऊ से सांसद राजनाथ सिंह गृह मंत्री थे जो नये मंत्रिमंडल में फिर से शामिल किये गये हैं। भाजपा के वरिष्ठ नेता नितिन गडकरी जो नागपुर से सांसद चुनकर आये हैं उन्हे दोबारा मंत्रिमंडल में शामिल किये गये हैं। निर्मला सीता रमन को भी नये मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है। जो पिछली मंत्रिमंडल में रक्षा मंत्री के रुप में थे। लोकजन शक्ति पार्टी के नेता रामविलास पासवान भी फिर से शामिल हुए है। मध्य प्रदेश से नरेंद्र सिंह तोमर जो पिछली मंत्रिमंडल में संसदीय कार्य मंत्री थे, नये मंत्रिमंडल में शामिल किये गये हैं। बिहार से भाजपा के वरिष्ठ नेता और पिछली मंत्रिमंडल में रह चुके कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद को दोबारा मंत्रिमंडल में शामिल किया गया।
पंजाब से अकाली दल के हरसिमरत कौर बाद दोबारा से शामिल किया गया है। थावरचंद गहलोत को भी नये मंत्रिमंडल में जगह मिली है। मोदी सरकार के पिछली मंत्रिमंडल कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी को नये मंत्रिमंडल में जगह मिली है जो अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी हराया है। दिल्ली से सांसद और पिछली मंत्रिमंडल में रह चुके मंत्री डॉ हर्ष वर्धन को भी शपथ दिलाई गयी है। मावन संसाधवन मंत्री प्रकाश जावडेकर और रेल मंत्री पीयूष गोयल को नये मंत्रिमंडल में केंद्रीय मंत्री के रुप में शामिल किया गया है। ओडिशा से धर्मेंद्र प्रधान जो पिछली मंत्रिमंडल में पेट्रोलियम मंत्री थे उन्हें फिर से शामिल किया गया है। मुक्तार अव्वास नकवी, महेन्द्र नाथ पांडे ,गिरिराज सिंह और गजेंद्र सिंह शेखावत नये मंत्रिमंडल में केंद्रीय मंत्री के रुप में शामिल हुए जो मोदी के पिछली सरकार के हिस्सा रह चुके हैं।मोदी सरकार के नये मंत्रिमंडल में राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार के रुप में संतोष कुमार गंगवार, राव इंद्रजीत सिंह, श्रीपाद यशो नायक, डा. जितेंद्र सिंह, किरेण रिजिजू, राजकुमार सिंह, हरदीप सिंह पुरी और मनसुख एल माडविया शामिल किये गये हैं जो पिछली सरकार में मंत्री रह चुके हैं। नरेंद्र मोदी के नये मंत्रिमंडल में 24 राज्य मंत्री बनाए गये हैं। जिसमें फग्गनसिंह कुलस्ते, अश्वनी कुमार चौबे, अर्जून राम मेघवाल, जनरल वी के सिंह, कृष्ण पाल, पुरुषोत्तम रुपाला, रामदास अठावले, साध्वी निरंजन ज्योती, बाबुल सुप्रियो, और संजीव कुमार बालियान पिछली सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं जिन्हें नये मंत्रिमंडल में फिर से शामिल किया गया है।
मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के लिए कई नए चेहरों को शामिल किया गया है इसमें सबसे बड़ा नाम अमित शाह का है जो अभी तक भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाल रहे थे जिन्हें अब कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। इसके बाद एक और नाम जो काफी अहम है वो पूर्व विदेश सचिव एस. जयशंकर का है जिनको कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है। इसके अलावा उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। 3 बार झारखंड के मुख्यमंत्री रहे अर्जुन मुंडा ने भी गुरुवार को कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ ली। वह राज्य के खूंटी से बीजेपी के सांसद हैं। कर्नाटक के धारवाड़ से चौथी बार सांसद बने प्रह्लाद जोशी को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। अरविंद सावंत ने शिवसेना कोटे से कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ ली। इन्होंने मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा को हराया है।
इसके अलावा नए चेहरों में दमोह से बीजेपी के सांसद प्रह्लाद पटेल ने राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के तौर पर शपथ ली। सिकंदराबाद से नवनिर्वाचित सांसद जी. किशन रेड्डी, महाराष्ट्र की अकोला लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी के धोत्रे संजय शामराव, हमीरपुर संसदीय क्षेत्र से चौथी बार सांसद चुने गए भाजपा के युवा नेता अनुराग ठाकुर, कर्नाटक के बेलगाम से भाजपा सांसद अंगदि सुरेश चन्नाबसप्पा, बिहार भाजपा अध्यक्ष नित्यानंद राय, अंबाला से तीसरी बार सांसद चुने गए रतनलाल कटारिया, भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा के सांसद और केरल के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष वी. मुरलीधरन, छत्तीसगढ़ के सरगुजा से सांसद रेणुका सिंह सरिता, होशियारपुर के नवनिर्वाचित भाजपा सांसद सोम प्रकाश, असम के डिब्रूगढ़ से बीजेपी सांसद रामेश्वर तेली, अपनी सादगी के लिए मशहूर ओडिशा के बालासोर से भाजपा सांसद प्रताप चंद्र सारंगी, राजस्थान के बाड़मेर से सांसद कैलाश चौधरी और पश्चिम बंगाल की रायगंज लोकसभा सीट से सांसद देबाश्री चौधरी को राज्य मंत्री बनाया गया है।
नई सरकार में पिछली सरकार के जिन प्रमुख चेहरों को शामिल नहीं किया गया है उनमें सुरेश प्रभु, मेनका गांधी, जे पी नड्डा, राधामोहन सिंह, राज्यवर्द्धन राठौड़, जुएल ओराम, उमा भारती, अनंत गीते, महेश शर्मा एवं के जे अल्फोंस शामिल हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

16 − 8 =

Most Popular

To Top