पंजाब

ग्रामीण आवास योजना के तहत राष्ट्रीय स्तर पर पंजाब को तीसरा स्थान हासिल- तृप्त बाजवा

चंडीगढ़ – पंजाब ग्रामीण विकास, पंचायत और आवास निर्माण मंत्री श्री तृप्त रजिन्दर सिंह बाजवा ने आज यहाँ बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के अंतर्गत राष्ट्रीय स्तर पर पंजाब को अन्य राज्यों में से तीसरा स्थान हासिल हुआ है।उन्होंने बताया कि राज्य को 14,000 घरों के निर्माण का जिम्मा सौंपा गया था जिसमें से 13,004 का निर्माण मुकम्मल किया जा चुका है, जोकि 93 प्रतिशत है। बाकी बचे घरों के निर्माण का कार्य ज़ोरों पर चल रहा है।श्री बाजवा ने कहा कि पिछले साल सितम्बर महीने तक राज्य द्वारा सिफऱ् 1212 घरों का निर्माण किया गया था और पंजाब को सभी राज्यों में से 26वां स्थान हासिल हुआ था। इस संदर्भ में ग्रामीण विकास विभाग की सारी मशीनरी इस कार्य में लगाई गई और इस योजना को बहुत बढ़ावा दिया गया। उन्होंने कहा कि 2018 की रैंकिग के मुकाबले यह एक बहुत बड़ी उपलब्धी है।श्री बाजवा ने कहा कि उनके द्वारा कच्चा हाऊस की परिभाषा में ढील देने के लिए यह मुद्दा केंद्र के पास उठाया गया था जिससे राज्य में रहने वाले गरीब लोगों को इस योजना के अधीन योग्य बनाया जा सके।श्री अनुराग वर्मा, वित्त कमिश्नर, ग्रामीण विकास और पंचायतें ने कहा कि इस स्कीम अधीन योग्य लाभपात्रियों को 1.2 लाख रुपए की सहायता दी गई है। इसके अलावा मनरेगा मज़दूरों को 90 दिन भाव 21,690 रुपए का काम दिया गया है। उन्होंने आगे बताया कि लाभपात्री को मनरेगा के अधीन घर में शौचालय के निर्माण के लिए 12000 रुपए भी प्रदान किये गए हैं। इस तरह हरेक योग्य परिवार को 1,53,690 रुपए का कुल लाभ मुहैया करवाया गया है।उन्होंने कहा कि इस स्कीम के क्रियान्वयन में पारदर्शिता लाने के लिए ‘आवास ऐप’ मोबाइल एप्लीकेशन के ज़रिये घर की जीओ टैगड फोटोग्राफज़ अपलोड की जाती हैं। यह काम तीन पड़ावों में किया जाता है यानि निर्माण से पहले, लिंटल लेवल और काम पूरा होने पर।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

17 + four =

Most Popular

To Top