खेल

फिक्सिंग के आरोपों में घिरा श्रीलंकाई क्रिकेटर निलंबित

नई दिल्ली – अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) ने मंगलवार को श्रीलंका के पूर्व ऑलराउंडर दिलहारा लोकुहेतिगे को निलंबित कर दिया। आइसीसी ने लोकुहेतिगे को पिछले साल संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में हुई टी-10 लीग में मैच फिक्सिंग का आरोपी बनाया है। आइसीसी ने कहा कि उन्होंने अमीरात क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) की तरफ से लोकुहेतिगे के खिलाफ आरोप तय किए हैं।
इस पूर्व क्रिकेटर को ईसीबी की आचार संहिता के लिए टी-10 लीग में भ्रष्टाचार रोधी अधिकारी नियुक्त किया था। श्रीलंका की ओर से नौ एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय और दो टी-20 खेलने वाले लोकुहेतिगे पर ईसीबी की भ्रष्टाचार रोधी संहिता के तहत तीन आरोप तय किए गए हैं। आरोप है कि लोकुहेतिगे ने घरेलू मैच को फिक्स करने या अनुचित तरीके से प्रभावित किया।
लोकुहेतिगे ने इस टी-10 प्रतियोगिता में हिस्सा नहीं लिया था और उनके पास इन आरोपों का जवाब देने के लिए 14 दिन का समय है। श्रीलंका क्रिकेट को अतीत में भ्रष्टाचार के कई मामलों का सामना करना पड़ा है। आइसीसी ने श्रीलंका के पूर्व तेज गेंदबाज नुवान जोयसा पर भी मैच फिक्सिंग का आरोप लगाया था और 31 अक्टूबर को उन्हें अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया था।
सनथ जयसूर्या पर भी आइसीसी की भ्रष्टाचार रोधी संहिता के तहत दो आरोप लगे हैं जिससे श्रीलंका के इस पूर्व कप्तान ने इन्कार किया है। वहीं जोयसा को भी उनके पद से हटा दिया गया है। आइसीसी फिलहाल श्रीलंका क्रिकेट में कथित भ्रष्टाचार की जांच कर रही है। हाल ही में विश्व कप विजेता बल्लेबाज सनत जयसूर्या पर जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप लगा था।
पूर्व तेज गेंदबाज जोयसा ने श्रीलंका के लिये 30 टेस्ट और 95 वनडे खेले हैं। उन्हें सितंबर 2015 में श्रीलंका का गेंदबाजी कोच बनाया गया था। उन पर धारा 2 . 1 . 1, 2 . 1 . 4 और 2 . 4 . 4 के उल्लंघन का आरोप है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

four × five =

Most Popular

To Top