पंजाब

कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने जलियांवाला बाग़ की शताब्दी मनाने के लिए संास्कृतिक मामलों के मंत्री को विस्तृत प्रस्ताव पेश करने के लिए कहा

स्मारक और साथ लगते इलाकों के विकास के लिए जल्दी फंड जारी करने की माँग को लेकर मुख्यमंत्री स्वयं प्रधानमंत्री से मिलेंगे
चंडीगढ़, –
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने जलियांवाले बाग़ के हत्याकांड की शताब्दी मनाने के लिए सांस्कृतिक मामलों के मंत्री को विस्तृत प्रस्ताव पेश करने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि वह इस समारोह के लिए केंद्रीय फंड प्राप्त करने के लिए निजी तौर पर प्रधानमंत्री को मिलेंगे। मुख्यमंत्री आज समारोह मनाने के लिए तैयारियों का जायज़ा लेने के लिए बुलायी एक मीटिंग की अध्यक्षता कर रहे थे। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने सांस्कृतिक मंत्री को इस समारोह के लिए विस्तृत व्यय योजना पेश करने के लिए कहा है और कहा कि वह इसको प्रधानमंत्री श्री नरिन्दर मोदी को निजी तौर पर पेश करेंगे जिससे अमृतसर में स्थित ऐतिहासिक स्मारक के आस -पास के विकास कामों और बुनियादी ढांचों के लिए ज़रुरी फंड जारी करवाए जा सकें।  कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने केंद्रीय संास्कृतिक मंत्रालय के साथ तालमेल के द्वारा राज्य स्तरीय इंप्लीमैंटेशन कमेटी के गठन को भी परवानगी दे दी है जिससे 13 अप्रैल, 2019 को मनाए जा रहे इस ऐतिहासिक समारोह की तैयारियाँ और सफलतापूर्वक कार्यों को मुकम्मल करने को यकीनी बनाया जा सके। यह कमेटी मुख्यमंत्री के नेतृत्व में होगी और यह लगातार तैयारियों का जायज़ा लेगी और इन पर निगरानी रखेगी। उन्होंने इस समारोह की सूक्ष्म योजनाबंदी के लिए स्थानीय स्तर पर कार्य को रूप देने की क्रिया करने के लिए कमेटी गठित करने के भी हुक्म दिए जो कि सांस्कृतिक मंत्री की अध्यक्षता में होगी। जलियांवाले बाग़ ट्रस्ट के मुखी प्रधानमंत्री होने का जि़क्र करते हुए कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि राज्य सरकार ने इस राष्ट्रीय स्मारक के आस-पास के विकास और सम्बन्धित सुविधाओं के लिए 100 करोड़ रुपए की माँग बारे विनती की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री मोदी ने पूरी वित्तीय सहायता देने के लिए उनको निजी तौर पर भरोसा दिलाया है। उन्होंने कहा कि इस शताब्दी समारोह की राष्ट्रीय प्रसंगिकता है और इसको राष्ट्रीय स्तर पर मनाए जाने की ज़रूरत है।
    मुख्यमंत्री ने इस ऐतिहासिक समारोह के अवसर पर सभी तरह की उपलब्ध सामग्री एकत्रित करने के लिए अमृतसर के म्युनिसिपल कमिश्नर को कहा है। उन्होंने इस सामग्री का पंजाबी में अनुवाद करने के लिए भी कहा है जिससे इसको बाग़ के अंदर प्रदर्शित किया जा सके। उन्होंने कहा कि यह सामग्री यहाँ आने वाले लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत होगी और यह नौजवानों में जागरूकता पैदा करने में मददगार होगी। उन्होंने अमृतसर के डिप्टी कमिश्नर को निर्देश दिए हैं कि वह ऐसी और सामग्री लाहौर और पाकिस्तान के दूसरे स्थानों से भी प्राप्त करने की कोशिश करें।  मुख्यमंत्री ने पार्टीशन म्युजियम ट्रस्ट की प्रमुख महिला किशवर देसाई और इंग्लैंड के एम.पी. लॉर्ड मेघनद देसाई की तरफ से महान स्मारक की बहाली के लिए की कोशिशों की सराहना की और संास्कृतिक मामलों के विभाग को कहा कि वह इस महान स्मारक के संभाल और रख -रखाव के लिए पंजाब सरकार की कोशिशों के समर्थन में उनकी सेवाएं प्राप्त करें जोकि भारत के स्वतंत्रता संघर्ष में अपनी जान न्यौछावर करने वाले लाखो लोगों को एक श्रद्धाँजलि होगी। इससे पहले महिला किशवर देसाई, लॉर्ड मेघनद देसाई, लॉर्ड रजिन्दर लूंबा, राजू चड्डा और बी.एस. कक्कड़ मुख्यमंत्री को मिले और जल्यिांवाले बाग़ के इर्द-गिर्द के क्षेत्र में उठाए जाने वाले विभिन्न कदमों बारे पेशकारी की। मुख्यमंत्री ने संास्कृतिक मामलों के विभाग को कहा कि वह एक मोबाइल एप्लीकेशन बनाने के लिए सुविधा प्रदान करे जोकि इस ऐतिहासिक समारोह के इतिहास की जानकारी दे। इसका सुझाव इस प्रतिनिधिमंडल ने दिया था। मीटिंग के दौरान पर्यटन एवं सांस्कृतिक मामलों के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू, वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल, मुख्य प्रमुख सचिव सुरेश कुमार, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री तेजवीर सिंह और प्रमुख सचिव पर्यटन रौशन शंकारिया उपस्थित थे।
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

three + four =

Most Popular

To Top