पंजाब

काऊंटर इंटेलिजेंस और पंजाब पुलिस द्वारा नशों के अंतर्राज्यीय गठजोड़ का पर्दाफाश

72.50 क्विंटल भुक्की के साथ दो व्यक्ति गिरफ्तार

जालंधर/चंडीगढ़,

नशों के खि़लाफ़ एक बड़ी कार्यवाही करते हुए पंजाब पुलिस और काउन्टर इंटेलिजेंस ने आज दो व्यक्तियों को गिरफ़्तार किया जो राजस्थान से पंजाब में भुक्की की तस्करी में शामिल थे। दोनों दोषियों की पहचान धरमजीत सिंह पुत्र सुरजीत सिंह निवासी गाँव लंडेके जि़ला मोगा और गुरवीर सिंह पुत्र गुरजंट सिंह निवासी गाँव रत्तियां मोगा के तौर पर हुई है और 180 बोरियां भुक्की से भरा ट्रक ज़ब्त कर लिया गया है।  इस संबंधी और अधिक जानकारी देते हुए ए.आई.जी. काऊंटर इंटेलिजेंस हरप्रीत सिंह खक्ख ने बताया कि इस तस्करी के मुख्य सरगना जगदेव सिंह उर्फ देबा पुत्र सूरत सिंह और शिन्दर सिंह पुत्र निरंजन सिंह निवासी दोलेवाला गाँव जि़ला मोगा हैं। उन्होंने बताया कि ये दोनों मोगा जि़ले के गाँव चाडि़क्क के बूटा सिंह पुत्र मंटेर सिंह के साथ मिल कर लम्बे समय से भुक्की की तस्करी करते थे। उन्होंने बताया कि काउंटर इंटेलिजेंस विंग दोलेवाला के इन तस्करों पर पैनी नजऱ रखे हुए थे।  उन्होंने कहा कि काउंटर इंटेलिजेंस को एक सूचना मिली की देबा के नेतृत्व में तस्कर राजस्थान से भारी मात्रा में भुक्की ला रहे हैं जिसके लिए उन्होंने धरमजीत सिंह को यह काम सौंपा है। धरमजीत सिंह ने यह खेप राजस्थान के चित्तौडग़ढ़ से संबंधित भुक्की के ठेकेदार राहुल से एक बड़े ट्रक में यह खेप हासिल करनी है। उन्होंने कहा कि खुफिय़ा सूचना के आधार पर कि यह तस्कर राजस्थान से पंजाब में पी.बी.07 यू 1945 ट्रक में आ रहे हैं जो कि तिरपाल से पूरी तरह ढका हुआ है और एक स्कोर्पियो गाड़ी नंबर पी.बी 29 एन 9314 इसका नेतृत्व कर रही है। उन्होंने कहा कि यह सूचना तत्काल तौर पर मोगा जि़ले के एस.एस.पी.गुरप्रीत सिंह तूर से साझी की गई और इलाके की सारी पुलिस पार्टियों को सचेत कर दिया गया। उन्होंने बताया कि पुलिस थाना मेहना के थाना प्रमुख दिलबाग सिंह बाघा पुराना जगराओं सडक़ पर इस ट्रक को तस्करों और खेप के साथ काबू किया।  उन्होंने बताया कि अंधेरे का फ़ायदा उठाते हुए जगदीश सिंह उर्फ देबा, शिन्दर सिंह और बूटा सिंह सफ़ेद स्कोर्पियो नंबर पी.बी.29 एन 9314 के में फऱार हो गए। उन्होंने बताया कि पुलिस ने इस सम्बन्ध में एफ.आई.आर. नम्बर 79 तारीख़ 06 अगस्त 2018 को एन.डी.पी.एस. एक्ट की दफ़ा 15 /25 /29 -61 -85 दर्ज करके देबा, शिन्दर सिंह, बूटा सिंह और अन्यों को पकडऩे के लिए कार्यवाही आरंभ कर दी है यहाँ यह जि़क्रयोग्य है कि पंजाब पुलिस ने पहले ही नशों की सप्लाई लाईन को काट दिया है जिसके निष्कर्ष के तौर पर नशों के भाव में भारी वृद्धि हुई है और एक किलो भुक्की भी 3000 रुपए प्रति किलो के हिसाब से बिक रही है जिस कारण इस 72.50 क्विंटल भुक्की की कीमत कई करोड़ों में है।  इस मौके पर श्री खक्ख ने बताया कि प्राथमिक जांच में यह बात सामने आई है कि तस्करों की तरफ से अपने राजस्थान के साथियों को हवाला के द्वारा खेप की अदायगी की जाती थी जो कि इस तस्करी का एक नया ढंग है। उन्होंने कहा कि इसलिए इस नापा$क गठजोड़ को बेनकाब करने के लिए इस केस की गहराई से जांच जारी है। उन्होंने बताया कि भुक्की के दुर्गंध को दबाने के लिए इन तस्करों ने यह खेप केलों के नीचे छुपा कर लाई थी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

fourteen − four =

Most Popular

To Top