मंडी

फलदार पौधे रोपित करने के लिए मौसम अनुकूल,

बागवानी विभाग सस्ते दाम पर उपलब्ध करवा रहा पौधे ।
मण्डी – हिमाचल प्रदेश एक पहाड़ी राज्य है और यहां की आर्थिकी को सुदृढ़ करने में बागवानी का महत्वपूर्ण योगदान है। प्रदेष की ढलानदार पहाड़ियां तथा यहां का वाताराण बागवानी के लिए बहुत उपयुक्त है। यहां के फलों की देष में ही नहीं अपितु विदेषों में भी मांग बढी़ है। प्रदेश में बागवानी की अपार सम्भावना होने के कारण राज्य सरकार द्वारा बागवानी को बढ़ावा देने के लिए अनेक योजनाएं चलाई जा रही हैं ताकि बागवानों की आय में बढ़ोतरी हो तथा राज्य की आर्थिकी भी सुदृढ़ हो सकें। प्रदेष सरकार द्वारा बागवानी को बढ़ावा देने के लिए उद्यान विभाग के माध्यम से किसानों बागवानों को सस्ते दामों पर विभिन्न प्रकार के फलदार पौधे उपलब्ध करवाए जा रहे है।। उद्यान विभाग विकास खण्ड सुन्दरनगर द्वारा इन दिनों किसानों बागवानों को सुन्दरनगर क्षेत्र में लगाए जाने वाले आम, अमरूद, लीची, सन्तरा, किन्नू आंवला, पपीता, कटहल, गलगल, मौसमी तथा नींबू के पौधे सस्ते दामों पर उपलब्ध करवाए जा रहे है। बागवानों को यह पौधे बाजार में उपलब्ध पौधों से लगभग आधी कीमत पर दिए जा रहे हैं।
सुन्दरनगर क्षेत्र में विभाग द्वारा आम, लीची व आंवला 40 रुपये, कागजी नींबू, कटहल, गलगल व पपीता 15 रुपये , मौसमी किन्नू व संतरा 35 रुपये, तथा बारामासी नींबू व अमरूद 30 रुपये प्रति पौधा उपलब्ध करवाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि विकास खण्ड सुन्दरनगर के अन्तर्गत अभी तक 8705 पौधे वितरित किए जा चुके है जिनमें से 1750 लीची , 1125 आम, 2900 कागजी नींबू , 600 मौस्समी, 340 अमरूद, 250 किन्न्ूा, 250 कटहल, 140 गलगल, 600 संतरा, 400 बारामासी नींबू, 150 आंवला तथा 200 पपीते के पौधे वितरित किए गए तथा निरन्तर वितरण किया जा रहा है। फलदार पौधों को रोपित करने के लिए जुलाई व अगस्त माह का समय सबसे उचित रहता है। बरसात का मौसम होने के कारण इन दिनों लगाए गए पौधे शीघ्र विकसित होते हैं तथा इनके सुखने की सम्भावना कम रहती हंै।
उद्यान विकास अधिकारी सुन्दरनगर श्री जगदीष चन्द वर्मा ने बताया कि इच्छुक व्यक्ति उद्यान विभाग के सुन्दरनगर नजदीक ललित चैक स्थित उद्यान विकास अधिकारी कार्यालय तथा उद्यान प्रसार केन्द्र रोहाण्डा व डैहर से पौधे प्राप्त कर सकते हैं। पौधों को रोपित करने सम्बन्धी जानकारी भी उक्त कार्यालयों से प्राप्त की जा सकती है ताकि पौधांे को सही तरीके से लगाया जा सकें।
किसान बागवान फलदार पौधे लगाकर जहां अपनी आय में बढ़ोतरी कर सकते हैं वहीं प्रदेष की आर्थिकी को सुदृढ़ करने में अपना योगदान दे सकते हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

2 × one =

To Top