पंजाब

पंजाब रोडवेज़ /पनबस के बेड़े में 333 साधारण और 31 ए.सी.वाल्वो बसें शामिल की जाएंगी- अरुणा चौधरी

परिवहण मंत्री श्रीमती अरुणा चौधरी और पशु पालन एवं डेयरी विकास मंत्री पंजाब स. बलबीर सिंह सिद्धू द्वारा एसएएस नगर के बाबा बन्दा सिंह बहादुर अंतरराज्यीय बस अड्डे से ए.सी. वाल्वो बसों और साधारण बसों को हरी झंडी दिखा कर किया रवाना
पंजाब के लोगों को आरामदायक और बेहतर सफऱ सहूलतें की जाएंगी प्रदान
पंजाब रोडवेज़ के सभी डिपुओं का कम्प्यूटराईजड़ेशन किया जायेगा
बसों में रियल टाईम पैसेंजर इन्फॉर्मेशन व्यवस्था को लागू किया जाएगा
एस.ए.एस नगर शहर में सिटी बस सेवा जल्दी ही शुरू की जायेगी-सिद्धू
एस.ए.एस नगर/चंडीगढ़,
पंजाब के लोगों को आरामदायक और बेहतर सफऱ सहूलतें प्रदान करने के लिए पंजाब रोडवेज़ /पनबस के बेड़े में इस वर्ष सितम्बर के अंत तक 333 साधारण और 31 सुपर इंटैगरल प्रशिक्षक ए.सी. वाल्वो बसें शामिल की जाएंगी। इस बात की जानकारी परिवहण मंत्री पंजाब श्रीमती अरुणा चौधरी ने एस.ए.एस नगर स्थित बाबा बंदा सिंह बहादुर अंतरराज्यीय बस अड्डे से पहले पड़ाव में 10 वाल्वो और 4 साधारण बसों को हरी झंडी दिखा कर रवाना करने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए दी। श्रीमती अरुणा चौधरी ने बताया कि इस समय पर पंजाब रोडवेज़ /पनबस के बेड़े में कुल 1844 बसें हैं जिसमें 1810 साधारण और 34 सुपर इंटैगरल प्रशिक्षक ए.सी. बसें हैं। उन्होंने बताया कि नई बसें और 104 करोड़ रुपए की लागत आयेगी और पुरानी को चरणबद्ध बदला जाएगा। उन्होंने बताया कि वाल्वो बसों को पंजाब के विभिन्न शहरों के इलावा दिल्ली एयरपोर्ट, जयपुर, कटरा के रूटों और चंडीगढ़ से अमृतसर, लुधियाना, पठानकोट, फिऱोज़पुर और होशियारपुर आदि रूटों पर चलाया जाएंगी। उन्होंने बताया कि यह सभी नई बसें सितम्बर के अंत तक राज्य और अंतरराज्यीय रूटों पर चला दी जाएंगी। नई बसों से विभाग को प्रतिवर्ष लगभग 160 करोड़ रुपए की रूट रसीद प्राप्त होगी। उन्होंने बताया कि इन नई बसों के शामिल होने से विभाग को लाभ होगा और आम लोगों को बढिय़ा सफऱ सुविधा मिलेगी और प्राईवेट बस ऑपरेटरों द्वारा चलाईं जाती ग़ैर कानूनी बस सर्विस पर मुकम्मल तौर पर नकेल डलेेगी।  परिवहण मंत्री ने बताया कि परिवहण विभाग द्वारा किलोमीटर स्कीम अधीन पनबस के बेड़े में 31 साधारण बसें और 11 सुपर इंटैगरल प्रशिक्षक ए.सी. बसें शामिल करने का भी फ़ैसला लिया गया है जोकि जल्दी ही विभिन्न रूटों पर चला दीं जाएंगी। श्रीमती अरुणा चौधरी ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि भविष्य में 21 करोड़ 27 लाख रुपए की लागत से इंटीग्रेटिड डिप्पू मेनेजमैंट व्यवस्था के अधीन पंजाब रोडवेज़ के सभी डिपूओं की कम्प्यूटराईज़ेशन की जायेगी और 5 करोड़ की लागत से 1800 बसों में रियल टायम पेसेंजर इन्नफॉर्मेशन को व्यवस्था लागू किया जायेगा और ई-टिंकटिंग प्रणाली चालू की जायेगी, जिससे टिकट मशीनों के सभी डाटा बेस और ऑनलाइन आरक्षण, काउन्टर बुकिंग के डाटा को एक प्लेटफार्म और ऑनलाइन किया जा सकेगा और ऐसा होने से आम जनता को सुविधा मिलेगी और परिवहण विभाग को वित्तीय फ़ायदा होगा।  इस अवसर पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए पशु पालन, डेयरी विकास और श्रम मंत्री पंजाब स. बलबीर सिंह सिद्धू ने बताया कि नई बसों के सम्मिलन से राज्य के लोगों को जहाँ बेहतर सफऱ सुविधा प्रदान होगी, वहीं समय की बचत भी होगी। उन्होंने बताया कि एस.ए.एस नगर शहर में जल्दी ही सिटी बस सेवा शुरू हो जायेगी जिसका यह प्रोजैक्ट अंतिम पड़ाव पर है।  जिससे शहर निवासियों के साथ-साथ राज्य के विभिन्न हिस्सों से आने वाले लोगों को भी फ़ायदा होगा। इस मौके प्रमुख सचिव परिवहण श्री सरवजीत सिंह, डायरैक्टर परिवहण विभाग श्री भुपिन्दर सिंह राय, कैबिनेट मंत्री स. सिद्धू के राजनैतिक सचिव श्री हरकेश चंद शर्मा मछली कलाँ, एसडीएम जगदीप सहगल, जिला सामाजिक सुरक्षा अफ़सर श्री रवीन्द्र सिंह राही और पंजाब रोडवेज़ के विभिन्न डिपुओं के जनरल मैनेजर और परिवहण विभाग के अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

1 + 15 =

Most Popular

To Top